आग क्या है, आग कैसे काम करती है, बुझाने की विधि एवं रोकथाम

आग क्या है

क्या आप जानते है आग क्या है ?

आग एक प्राकृतिक घटना है जो तब उत्पन्न होती है जब एक दहनशील ‘ईंधन’ आग प्रज्वलित के लिए पर्याप्त (sufficient to ignite), अत्यधिक गर्मी के तहत ‘ऑक्सीजन’ के संपर्क में आती है जिसे आग कहते है।

आग एक घातक हथियार है (Fire is a Deadly Weapon) :

fire

इतिहास साबित करता है कि आग बमबारी से भी बदतर है, रिकॉर्ड बताते हैं कि जंगल की विशाल आग ने शहरों और कस्बों तक को जला डाला जबकि वहाँ कोई दुश्मन नहीं था, लेकिन प्रकृति के क्रूरता थी।

आग एक पल में किसी भी इमारत को राख कर सकती है सौभाग्य से इसे रोका जा सकता है।

तो आइए हम ऐसे कर सकते है रोकथाम –               

अग्नि की रोकथाम (Fire Prevention) :

यदि आग की रोकथाम को सुनिश्चित कर लिया जाए तभी आग से बचा जा सकता है। आग की रोकथाम शब्द का अर्थ है आग को लगने से रोकने के लिए आवश्यक सभी सावधानियां बर्तना ।

आग की रोकथाम दो तरीकों से सुनिश्चित की जा सकती है –

  1. आग लगने से रोकने के सभी दिशा निर्देशों का पालन करके ।
  2. जब आग लग जाती है तब आग के प्रभाव को कम या सीमित करने के लिए निर्धारित उपचारात्मक उपायों के द्वारा ।

अग्निशमन (Fire Fighting) :

अग्निशमन आग को बुझाने का एक कार्य है। एक अग्निशामक (Firefighter) जीवन की हानि या संपत्ति और पर्यावरण के विनाश को रोकने के लिए आग से संघर्ष करता है।

आग कैसे काम करती है, आग क्या है ? (How does Fire Work ?)

‘आग’ ईंधन, ताप और ऑक्सीजन के मद्द से जलने वाले पदार्थों की एक रासायनिक प्रतिक्रिया है, जिसे आग कहा जाता है। इसलिए ईंधन, ताप, और आक्सीजन ये तीन तत्व हैं जिनका एक साथ गठबंधन होने पर आग लगती है और अत्यधिक गर्मी, प्रकाश और विषैली गैसों से युक्त धूआं पैदा करती है।

  1. ईंधन (Fuel): एक पदार्थ या सामग्री है जो गर्मी या बिजली की तरह ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए जलता है। जो पदार्थ आसानी से जलते हैं उन्हें हम तकनीकी रूप से दहनशील/ज्वलनशील (combustible) पदार्थ या सामग्री कहते हैं, जैसे लकड़ी, कोयला, गैस, या तेल और जो पदार्थ नहीं जलते उन्हें गैर-दहनशील/ अज्वलनशील (non-combustible) पदार्थ या सामग्री कहा जाता है ।
  2. ताप (गर्मी) (Heat): सरल शब्दों में, जब तापमान बढ़ जाता है तब ताप (गर्मी) उत्पन्न होती है । तापमान के एक निश्चित डिग्री तक पहुंच कर उत्पन्न ताप आग में परिवर्तित हो जाती है । इसे समझना हमारे लिए महत्वपूर्ण है । एक बार जब आग शुरू हो जाती है तो आम तौर पर यह स्वयं अपने ताप की आपूर्ति को बनाए रखती है ।
  3. ऑक्सीजन (Oxygen): ऑक्सीजन एक रंगहीन, गंधहीन, बेस्वाद गैसीय रासायनिक तत्व है, जो वातावरण में बहुतायत में उपलब्ध है बहुत से लोग ऑक्सीजन से परिचित हैं क्योंकि यह सांस प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण तत्व है । ऑक्सीजन के बिना ज्यादातर जीव मिनटों में मर जाते हैं ।

इन सभी तीन बुनियादी तत्वों का आंतरिक महत्व है, जिन्हें स्केच की मदद से ‘अग्नि त्रिकोण ‘The Triangle of Fire’ के द्वारा विस्तार से बताया गया है:

The Triangle of Fire (अग्नि त्रिकोण) :

अग्नि के त्रिभुज को ‘दहन त्रिकोण’ ‘Combustion Triangle भी कहा जाता है जो आग की तीन तत्वों को दर्शाता है और आग को दहनशील बनाते हैं ।

अग्नि का त्रिभुज यह दर्शाता है कि त्रिभुज की प्रत्येक भुजा तीन तत्वों अर्थात ईंधन, ताप और ऑक्सीजन (fuel, heat and oxygen) में से एक का प्रतिनिधित्व करती है जिसकी किसी अग्नि को शुरू होने के लिए आवश्यकता होती है। हमेशा याद रखें अग्नि प्राकृतिक रूप से लगती है जब ये तत्व उपस्थित हों और इनका सही मिश्रण हो ।

लेकिन जब अग्नि त्रिकोण के तत्वों में से किसी एक को हटा दिया जाता है तब आग बुझ जाती है। हम देखेंगे कि किस तरह इन तीनों तत्वों में से किसी भी एक के अभाव में दहन नहीं हो पाएगा ।

कार्य – I

यदि ‘ताप’ को हटा दें तो कोई आग नहीं लगेगी ।

ताप नहीं, आग नहीं! किसी ऐसे पदार्थ का उपयोग करके जो आग प्रतिक्रिया के लिए उपलब्ध ताप की मात्रा को कम कर देता है जिससे आग की प्रतिक्रिया कम हो जाती है । मुख्य रूप से पानी का उपयोग करके ऐसा किया जाता है, जिसे पानी को भाप की स्थिति में बदलने के लिए ताप या गर्मी की आवश्यकता होती है ।

प्रारंभिक लौ पर आवश्यक मात्रा में पाउडर या गैस का उपयोग करके भी ताप को कम किया जा सकता है, इसी प्रकार बिजली की आग में बिजली को बंद कर देने से दहन का स्रोत हट जाता है ।

याद रखें कि अत्यधिक गर्मी के मौसम में आग लगने के बारे में और अधिक सावधान होना चाहिए ।

कार्य – II

यदि ‘ऑक्सीजन’ की आपूर्ति को हटा देते हैं तो कोई आग नहीं लगेगी ।

ऑक्सीजन नहीं, आग नहीं! ऑक्सीजन एकाग्रता को कम करने से दहन प्रक्रिया स्लो या कम हो जाती है। यह कार्रवाई बहुत प्रभावी है और आग लगने के प्रारंभिक स्थिति में महत्वपूर्ण है। क्योंकि जब आग लगती है तब आसपास काफ़ी हवा होती है और तब इससे लड़ना मुश्किल हो सकता है ।

आग बुझाने की विधियाँ  (Methods of fire extinguishing) :

इससे पहले पृष्ठ पर अग्नि त्रिकोण से स्पष्ट है कि आग लगने के लिए तीन तत्व आवश्यक हैं। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि यदि इन तत्वों में से किसी एक या अधिक को हटा दिया जाए तो आग बुझ जाएगी ।

इसलिए, आग बुझाने के लिए प्रत्येक तत्वों को हटाने के तरीके निम्नलिखित हैं ।

  1. ताप या गर्मी को हटाना ‘शीतलन’ ‘Cooling’ कहा जाता है ।
  2. ऑक्सीजन को हटाना ‘ब्लैंकेटिंग/स्मूथरिंग’ ‘Blan-keting /Smothering’ कहा जाता है ।
  3. ईंधन का हटाया जाना ‘मितसाधन’ ‘Starvation’ कहा जाता है ।

कार्य – III

यदि आप ‘ईधन’ हटा देते हैं तो कोई आग नहीं लगेगी ।

ईधन नहीं, आग नहीं! ईंधन हटाने या इसकी आपूर्ति को कम करने से ताप कम हो जाता है। ईंधन को स्वाभाविक रूप से हटाया हुआ माना जा सकता है, जब सारा ज्वलनशील ईंधन आग से भस्म हो जाता है । यह ज़्यादातर तेल डिपो या ऐसे ही उद्योगों के मामले में होता है, जहाँ आग केवल तभी बुझ सकती है जब आग सारे तेल को पूरी तरह से जला लेती है ।

उदाहरण-शीतलन विधि (Example of Cooling Method):

शीतलन विधि में आग के प्रज्जवलन पॉइंट के नीचे के एक स्तर पर दहनशील सामग्री के तापमान को कम करने, यानी माध्यम में ताप को अनिवार्य रूप से हटाने के द्वारा नियत्रित किया जाता है: –

  1. पानी के प्रयोग से क्योंकि ये सभी जगह आसानी से उपलब्ध हो जाता है और जहाँ आवश्यक हो सबसे अधिक प्रभावी भी है ।
  2. ऊष्माशोषी रसायन (endothermic chemicals) जैसे झाग के प्रयोग द्वारा ।

उदाहरण-ब्लैंकेटिंग/स्मूथरिंग (Example of Blanketing/ Smothering): जलने वाली सामग्री को किसी धातु के आवरण, सूखे रासायनिक पाउडर या किसी अन्य निष्क्रिय गैस (inert gas) से जो आग का समर्थन नहीं करती हो उससे ढ़ककर दहन के सहायक जैसे ऑक्सीजन (वायु) को पूरे या आंशिक (part) रूप से हटाना‌ ।

प्राथमिक सहायता के अग्निशमन उपकरण :

उन व्यक्तियों द्वारा जिसने आग को सबसे पहले देखा हो, आग के प्रतिरोध के लिए निम्नलिखित उपकरण, सामग्री और औज़ारों का प्राथमिक सहायता के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है: –

विधि प्रयोग किया जाने वाले उपकरण
ठंडा करने (शीतलन) के लिए पानी की बाल्टी, पानी जैसे अग्निशामक और हाइड्रेट वाल्व
ब्लैंकेटिंग/स्मूथरिंग के लिए बालू, एस्बेस्टस के खोल, सूखा रासायनिक पाउडर, कार्बनडाई ऑक्साइड और झाग
मितसाधन (स्टार्वेशन) के लिए कुदाल, फावड़े, फायर बीटर आदि

दहनशील पदार्थ (Combustible Material)

दहनशील सामग्री की श्रेणी :

आसानी से जलने वाली सामग्रियों को तकनीकी रूप से दहनशील पदार्थ कहा जाता है जो मुख्य रूप से ठोस, द्रव या गैसीय अवस्था में होती हैं। नीचे दी गई तालिका में विभिन्न श्रेणी में आने वाली सामग्री का विवरण दिया गया है: –

दहनशील (ज्वलनशील) सामग्री :

क्रम स.

Sr. No.

ठोस

(SOLIDS)

द्रव/तरल

(LIQUIDS)

गैसें

(GASES)

1 लकड़ी पेट्रोल कोल गैस
2 कागज़ डीज़ल एक्टीलीन
3 कपड़ा अल्कोहल हाइड्रोजन
4 घास स्पिरिट्स हाइड्रोजन सल्फाइड
5 प्लास्टिक केरोसिन कार्बन मोनक्साइड

आग की श्रेणी (Classification of Fire) :

भारत में आग को चार प्रमुख वर्गों में वर्गीकृत किया गया है, जिन्हें वर्णानुक्रम में, ‘ए’ ‘बी’ ‘सी’ और ‘डी’ (A B C and D) में दर्शाया गया है । क्लास ई (E) में विद्युत से प्रारंभ होने वाली आग (Electrically Started Fire – ESF) को जोड़ा गया है जो आम तौर पर क्लास ‘ए’ की आग का नेतृत्व करती है । वर्गीकरण नीचे दिए गए हैं –

अग्निशामकों पर आम तौर पर प्रयोग किये जाने वाले चिह्न-

क्लास ‘ए’ आग(Class A fire)

(ठोस पदार्थ) उदाहरण- लकड़ी, कागज, कपड़ा, प्लास्टिक, कचरा और अन्य सामान्य सामग्री ।

क्लास ‘बी’ आग (Class B fire)

(तरल पदार्थ) उदाहरण-पेट्रोल, स्पिरिट, मोम, थिनर, तेल आधारित पेंट और ग्रीस इत्यादि ।

क्लास ‘सी आग’ (Class C fire)

(गैस मिश्रित बिजली जोखिम) उदाहरण-एल.पी.जी., सी.एन.जी., हाइड्रोजन इत्यादि ।

क्लास ‘डी’ आग (Class D fire)

(धातु) उदाहरण- मैग्नीशियम, टाइटेनियम, लिथियम, एल्यूमिनियम इत्यादि ।

क्लास ‘ई’ आग (Class E fire)

(वाणिज्यिक खाना पकाने वाले उपकरण) से जुड़ी आग उच्च तापमान पर वनस्पति तेल, पशु तेल, या वसा वाले उपकरण । एक गीला पोटेशियम एसीटेट, कम इस वर्ग की आग के लिए पीएच-आधारित एजेंट का उपयोग किया जाता है।

आग की रोकथाम के लिए क्या न करे (DON’Ts for Fire Prevention)

  • किसी भी आग को बिना ढके या बिना देखभाल के न छोड़ें ।
  • पेट्रोल, स्पिरिट, रंग रोगन या किसी भी ख़तरनाक वस्तु का आग प्रवण स्थानों में इकट्ठा न करें ।
  • बिजली के फेल होने के समय में या काम के समय के बाद बिजली के किसी भी उपकरण को चलता न छोड़ें ।
  • बिजली के अस्थायी तार का उपयोग न करें ।
  • लापरवाही न करें और न ही किसी छोटी बात की उपेक्षा करें, जो एक बड़े नुकसान का कारण हो सकती है ।
  • अधिक क्षमता के उन बिजली के उपकरणों का उपयोग न करें जो बिजली के स्वीकृत भार से अधिक हों ।
  • काम करने के स्थानों के निकट किसी भी ज्वलनशील या ख़तरनाक सामान को न रखें ।

आग की रोकथाम के लिए उठाये जाने वाले कदम :

  1. किसी भी ऐसी आग को तुरंत बुझा दें जिसकी देखभाल न हो रही हो ।
  2. बीड़ियों, सिगरेटों और दियासलाई की तीलियों को फेंकने से पहले उन्हें बुझा दें । यह यकीन करें कि आपकी ड्यूटी के दौरान और लोग भी ऐसा ही करते हैं ।
  3. जब उपयोग में न हों या बिजली के फेल होने के समय बिजली के उपकरणों के स्विच बंद कर दें ।
  4. निगरानी के लिए घूमते समय हमेशा ढीले बिजली के तारों या दोषपूर्ण बिजली कनेक्शन/फ्यूजों आदि की जाँच करें और किसी भी आवश्यक मरम्मत/सुधार को जल्द से जल्द अमल में लाने के लिए प्रबंधन को सूचित करें ।
  5. अच्छी गृह व्यवस्था का मतलब है आग का न्यूनतम ख़तरा । यकीन करें कि क्षेत्र स्वच्छ और साफ है ।
  6. हमेशा जाँच करें और सुनिश्चित करें कि बचाव के माध्यम खुले हैं, अगर नहीं हैं तो प्रबंधन को सूचित करें ।
  7. ज्वलनशील तरल गैसों के रिसाव के खिलाफ सतर्क रहें ।
  8. अपने और अपने काम के स्थान के आस पास सुरक्षित भंडारण के बारे में सावधान रहें ।
  9. यकीन करें कि किसी आग के देखे जाते ही वातानुकूलन संयंत्र (Air Conditioning Plant) बंद कर दिया जाए ।
  10. अकुशल और अनपढ़ कर्मचारी/अनुबंधित मज़दूरों न चाहते हुए भी आग का कारण बन सकते हैं । अज्ञानता, जीवन और काम की हानि करती है, जब ऐसे कर्मचारी परिसर के अंदर काम कर रहे हों तो उन पर नज़र रखें ।
  11. जीवन और संपत्ति की सुरक्षा यकीन करने के लिए आग के कारणों को हटायें ।

आग लगने पर आपको पता होना चाहिए  ?

  • स्थानीय आग नियंत्रण कक्ष के नंबर ।
  • आपके ड्यूटी की जगह से निम्न के नजदीक स्थान।
  • मैनुअल कॉल पॉइंट (MCP) ।
  • अग्निशामकों के स्थान ।
  • फायर हाइड्रेंट और हौज़ रील के बक्से ।
  • नजदीकी फायर निकासी (Fire Exit) ।
  • अपने कार्य क्षेत्राधिकार में मेन सर्किट ब्रेकर (MCB) की लोकेशन और इंचार्ज इलेक्ट्रिीसियन का नाम ।
  • अपने कार्य क्षेत्र में प्रदर्शित अग्निशामक और लगाई गई हौज़ रील को कैसे संचालित करें ।

आग देखने पर क्या करें ?

  • आग – आग आग चिल्लाएं ।
  • लंबी सीटी बजाएं ।
  • नियंत्रण कक्ष को सूचित करें-
  • MCP शीशे को तोड़ कर ।
  • फोन द्वारा ।
  • PA सिस्टम या लाउडस्पीकरों द्वारा ।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की आपको आग क्या है आग से बचने के लिए रोकथाम कैसे करें जानकारी सही लगी होगी।

सही लगे तो अपने दोस्तों में आग क्या है शेयर जरूर करें।

आग क्या है पर कोई प्रश्न है तो हमें कमेंट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!