E-Book

E-Book क्या है ? ई-बुक कैसे बनायें, Full Form व सम्पूर्ण जानकारी

चलिए आज हम इस पेज के ज़रिय E-Book क्या है ?

इस पर नजर डालते है और इसके बारे में कुछ जानकारी जुटाते है क्योंकि यह एक ऐसा विषय है जिसका उपयोग डिजिटल की दुनिया में ज़्यादा किया जा रहा है और यह वह विषय है जिसे अधिक मात्रा में इंटरनेट उपयोग करने वाले लोगो द्वारा किया जाता है हालाँकि इसकी ज़रूरत अब और ज़्यादा बढ़ गई है जिसका कारण कोरोना जैसी महामारी है। जिसने सभी को इंटरनेट यानि ऑनलाइन काम करने पर विवश कर दिया है।

जिसकी वजह से ऑनलाइन काम करते वक्त e-book का ज़्यादा उपयोग बढ़ गया है।

जिस प्रकार किसी न किसी चीज का ज़्यादा इस्तेमाल हमारे लिए खतरनाक होता है उसी तरह e-book के भी बहुत तरह से आपको लाभ तथा हानि देखने को मिल सकता है। जिसके बारे में आपको जानना चाहिए।

क्योंकि जब आप किसी भी चीज का भोग करते हैं उससे जुड़ी सभी बातों को आपको पता होना आवश्यक है जिससे आपको कभी भी किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े इसी बात को ध्यान में रखते हुए मैं आपके लिए ई-बुक की समस्त जानकारी विस्तार रूप से जूटा कर लाया हूं।

E-Book क्या है?

चलिए मैं आपको ई-बुक से परिचित कराता हूँ ई-बुक एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक से चलने वाली पुस्तक है जो अन्य पुस्तकों से भिन्न होती है जैसा कि आप इसके नाम से ही अनुमान लगा सकते हैं।

ई-बुक अन्य उपकरणों जैसे कंप्यूटर लैपटॉप, फोन इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की तरह ही होता है परंतु इसका इस्तेमाल आप निम्न प्रकार से देख सकते हैं ये बुक अन्य बुक के समान लिखित रूप में तो उपलब्ध होती हैं परंतु उनकी तरह हार्ड कॉपी यानी किसी भी प्रकार के कागज में नहीं लिखी होती है लेकिन ई-बुक को अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे-कंप्यूटर,लैपटॉप, फोन इत्यादि में पढ़ा जा सकता है।

यदि हम E-Book में उपस्थित प्रारूपों की बात करें तो यह निम्न रूप में उपलब्ध होती हैं जो पीडीएफ, ऍक्स्पीऍस इत्यादि नाम से प्रचलित है ऐसा माना जा रहा है भविष्य के आने वाले समय में उपन्यास और पुस्तक जैसी E-Book की सेवाएं आपको ऑडियो पुस्तकों के रूप में प्राप्त होने की संभावना है।

E- BOOK  की फुल फॉर्म :

E- BOOK  की फुल फॉर्म – Electronic book है।

ई-बुक का उद्देश्य:

आइए हम E-Book के उद्देश्य के बारे में जानते हैं कि कुछ भी सीखने के लिए हमें प्राप्त निम्न प्रकार की बुक होने के बावजूद आखिरकार ई-बुक की आवश्यकता क्यों पड़ी और ई-बुक का उद्देश्य एक व्यक्ति के जीवन में क्या है जी हाँ इस पैराग्राफ में, मैं आपको ई-बुक के उन उद्देश्यों से परिचित कराऊंगा।

जिनके कारण ई-बुक को सरल बनाया गया है, ई-बुक के निर्माण के कारण यह रहा कि सीखने के जरिए को और किस तरह सरल और सहज बनाया जाए। इसी कारण सीखने के डिजिटल माध्यम यानी ई-बुक पर अधिक जोर दिया गया ई-बुक एक ऐसा साधन है जिसमें आपको पढ़ने के लिए मौखिक भाषण के विपरीत सीखने के लिए क्रियात्मक रूप से भाग लेकर सीख सकते हैं।

पुस्तकों का हमारे जीवन में क्या महत्व हैं?

हमने ई-बुक के साथ-साथ अन्य बुक की थोड़ी जानकारी प्राप्त कर ली है परंतु क्या आपको यह पता है कि हमारे जीवन को बेहतर बनाने के लिए पुस्तकों का क्या योगदान रहा है।

यदि हमारे जीवन में पुस्तकों के योगदान की बात करें तो पुस्तकों का हमारे प्रति निम्न प्रकार से लोकप्रियता रही क्योंकि पुस्तके हमें ज्ञान प्रदान करने के साथ-साथ जीवन जीने की कला को भी सिखाती हैं।

यह वह साधन होती है जिनके जरिए मनुष्य अपने सामान्य ज्ञान को परिपक्व बनाने में सफल रहता है एवं पुस्तकें वह सबसे अलग साधन है जो हमें अपने पूर्वजों और उनकी दिनचर्या जैसी अन्य बातों को समझाने में सफल होती है।

ये वे पुस्तके हैं जो बिना किसी मूल्य के मांग के किए हमें ज्ञान प्रदान करती हैं ऐसा माना जाता है पुस्तकें मनुष्य की दूसरी मां के समान होती हैं क्योंकि जिस प्रकार एक माता का कर्तव्य अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा देना होता है।

जिससे वह अपने जीवन में सफल हो सके उसी प्रकार पुस्तकें हमें ज्ञान प्रदान कर हमारी प्रतिभा को और दिव्य बनाने में हमारी सहायता करती हैं।

ई-बुक का निर्माण किस प्रकार किया जाता है?

इस पैराग्राफ के माध्यम से मैं आपको सरल विधि से परिचित कराऊंगा जिससे आप आसानी से खुद ही बनाकर इ-बुक का उपयोग कर सकें यदि आप ई-बुक बनाने के बिंदुओं से परिचित होना चाहते हैं तो आपको मेरे द्वारा नीचे दिए गए बिंदुओं को सुव्यवस्थित ढंग से पढ़कर उन पर अमल करना पड़ेगा जिसे आप एक बेहतर ई-बुक का निर्माण कर सकेंगे-

  • ई-बुक बनाने के लिए सर्वप्रथम आपको माइक्रोसॉफ्ट वर्ड यानी कंप्यूटर में एम.एस. वर्ड की आवश्यकता होती है।
  • एमएस वर्ड प्राप्त होने के बाद उसे खोल ले इसके उपरांत सोचे गए विषय को एक आकर्षित नाम प्रदान करें।
  • इस बुक का साइज आपके चुने गए विषय के मुताबिक छोटी या बड़ी बुक का रूप ले सकती है।
  • उसके पश्चात आप अपने विषय पर लिखना प्रारंभ कर सकते हैं लिखने के लिए आप किसी भी प्रकार के साधन का उपयोग कर सकते हैं यदि आप कीबोर्ड की मदद से विषय को एक बड़ा आकार देना चाहते हैं तो यह एक सफल साधन है इसके अलावा अगर आप कीबोर्ड की सहायता से लिखने में मात खा जाते हैं तो आप वॉइस टाइप के जरिए पुस्तक को लिखित रूप में पूर्ण कर सकते है।
  • उसके उपरांत जब आपका विषय पर लिखित कार्य हाथ में होता है तो आप इसे एक पीडीएफ फाइल में लंबे समय तक सुरक्षित कर रख सकते हैं।
  • आपके द्वारा लिखे गए विषय को सुरक्षित करने के लिए वहां पर उपस्थित क्लिक Save As के ऑप्शन को चुनकर उस पर क्लिक कर फाइल को Save कर सकते है।

इस प्रकार आपकी एक ई-बुक बनकर तैयार हो जाती है।

ई-बुक से होने वाले लाभ :

ई-बुक से प्राप्त होने वाले लाभ निम्न है जिन्हें नीचे चरणों में व्यक्त करने का प्रयास किया गया है उन्हें ध्यान पूर्वक पढ़ें-

  • जैसा कि हम जानते हैं सभी व्यक्ति इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस यानी फोन का उपयोग करते हैं आपको शिक्षा प्राप्त करने के लिए हार्ड कॉपी यानी बुक की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि फोन में ई-बुक पहले से ही उपस्थित होती है जिससे आसानी से शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
  • ई-बुक को बनाने के लिए आपको किसी अन्य की सहायता की मदद नहीं लेनी पड़ती क्योंकि ई-बुक बनाना एक सरल कार्य है।
  • यदि हम लेखक के द्वारा लिखी किताबो को पढ़ना चाहते हैं तो आपको उनकी किताबों को खरीदने की आवश्यकता नहीं होती बल्कि लेखक अपनी किताबों को ई-बुक के माध्यम से लांच कर व्यक्तियों को उपलब्ध कराते हैं।
  • ई- बुक और अन्य बुक में एक सामान्य बात ये है की सामान्य बुक की तरह किसी भी पेज को खोल कर पढ़ सकते हैं।
  • यदि आप ई- बुक बनाना नहीं जानते हैं तो आप ई-बुक को ऑनलाइन के जरिए भी घर बैठे मंगवा सकते हैैं इसका एक बेहतर असर तब होता है जब इसमें इमेज जैसे कुछ एनिमेशन को ऐड किया जाता है जिससे पढ़ाई को और भी आकर्षित और मजेदार बनाया जाता है।
  • आपको ई-बुक को लेने के लिए बाजारों में घूमने की आवश्यकता नहीं होती।

ई-बुक से परेशानियां:

जैसा कि हम जानते हैं ई-बुक एक इंटरनेट तथा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में चलने वाली एक अनोखी बुक है यदि् आप अपनी शिक्षा ई-बुक के माध्यम से प्राप्त कर रहे हैं तो उस दौरान किसी कारणवश आपके उपकरण में खराबी या इंटरनेट की हाई स्पीड ना होने से आप ई- बुक का उपयोग नहीं कर सकते जब तक यह सुविधाएं आपको दोबारा से प्राप्त नहीं होती तब तक आप ई-बुक का उपयोग करने में सक्षम नहीं रहते।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द:

आशा करता हूँ की आपको ई-बुक की संपूर्ण जानकारी आपको बेहद पसंद आई होगी और ई-बुक के दौरान होने वाले नुकसान तथा परेशानियों से परिचित हो चुके हैं।

आप लोगों को यह जानकारी प्राप्त होना आवश्यक थी क्योंकि आज आप डिजिटल मीडिया तथा इंटरनेट का उपयोग अधिक मात्रा में कर रहे हैं। जिससे आपको हार्ड कॉपी यानी बुक को अपने पास रखने और उसे लेकर घूमने की आवश्यकता नहीं होगी यदि आप ई-बुक का इस्तेमाल करते हैं तो ।

हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

धन्यवाद

admin

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम शिव है Help Guide India ब्लॉग पर आपका स्वागत है यहाँ पर आपको Employee Help, Study, Internet, Technical, Computer नॉलेज से सम्बन्धित सभी जानकारी हिंदी भाषा मिलेंगी, Help Guide India वेबसाइट का एक ही मकसद है, आपकी मदत करने में आपकी मदत करता है इसलिए इस Hindi Blog से जुड़े रहने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल व फेसबुक को फॉलो करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll to top
error: Content is protected !!