गार्ड की ड्यूटी क्या होती है, जिम्मेदारी, ट्रेनिंग, सम्पूर्ण जानकारी

गार्ड की ड्यूटी

इस पेज पर आज हम सिक्योरिटी गार्ड की ड्यूटी क्या होती है की समस्त जानकारी पढ़ने वाले है।

इसलिए इस पेज के अंत तक बनें रहें।

इससे पहले हमने सिक्योरिटी गार्ड कैसे बनें जानकारी शेयर की थी, लिंक पर क्लिक जरूर करें।

सिक्योरिटी गार्ड कौन होता है ?

सिक्योरिटी गार्ड वह होता है जो अपनी रक्षा करते हुए दूसरे लोगो की सुरक्षा और रक्षा करें उसे सिक्योरिटी गार्ड कहते है, सुरक्षा गार्ड अपने आसपास किसी भी तरह का नुकसान होने से बचाता है, जैसे चोरी, लूटपाट, आपराधिक गति – विधि एवं गलत हरकते आदि जिसे हम गार्ड या सुरक्षाकर्मी कह सकते है।

सुरक्षा गार्ड ड्यूटी और जिम्मेदारी:

सुरक्षा गार्ड की जिम्मेदारी अपने सामान की रक्षा करते हुए दूसरों की सामान की रक्षा एवं देखरेख करना, जिस क्षेत्र में आपकी ड्यूटी है वहां पर प्रॉपर तरीके से निगरानी रखना आदि एक जिम्मेदारी सुरक्षा गार्ड की ड्यूटी होती है।

सिक्योरिटी का क्या मतलब होता है?

अपनी रक्षा करते हुए दूसरों की रक्षा करना व् अपने आसपास कोई घटना आदि घटने न देना, जान -माल की हानि न पहुँचने देना आदि सिक्योरिटी गार्ड कहलाता है।

सिक्योरिटी गार्ड को हिंदी में क्या कहते हैं?

सिक्योरिटी गार्ड के कही अर्थ है जैसे –

  • दूसरों की रक्षा करना।
  • चौकीदार।
  • संतरी।
  • प्रहरी।
  • गार्ड।
  • सुरक्षा कर्मी।
  • सुरक्षा गार्ड।
  • पहरा देना वाला कर्मी।
  • प्राइवेट सुरक्षा कर्मी आदि।

एक सुरक्षा कर्मीं बनने के लिए निम्न अवधि का प्रशिक्षण आवश्यक है:

प्रशिक्षण कार्यक्रम प्राईवेट सिक्यूरिटी एजेन्सी रेगुलेशन के अनुसार न्यूनतम 100 घंटे का शिक्षण तथा 60 घंटे का फील्ड प्रशिक्षण अनिवार्य है ।

सिक्योरिटी गार्ड की ट्रेनिंग कैसे होती है?

सुरक्षा गार्ड में यदि आप भर्ती होना चाहते है तो कम से कम 45 दिन का ट्रेनिंग होना जरुरी है वह भी किसी अच्छे ट्रेनिंग एजेंसी के द्वारा, 45 दिन का ट्रेनिंग कर लेने के बाद आपको मान्यता प्राप्त सुरक्षा एजेंसी द्वारा सर्टिफिकेट दी जाता है। जिसमे कदम ताल, सावधान-विश्राम, दाएं मूड, बाएं मूड, सामने सलूट, आदि।

गार्ड की ड्यूटी क्या होती है ?

गार्ड की ड्यूटी हर क्षेत्र में अलग -अलग होती है, जैसे हमने नीचे कर्मवद्ध तरीके से बताया है।

  • अपनी पोस्ट में टाइम से पहुंचना।
  • अपने रिलीवर से चार्ज लेना।
  • जिस क्षेत्र में ड्यूटी पर हो वहाँ का पूरा जायजा लेना।
  • यदि ड्यूटी क्षेत्र में कोई चोरी होती है तो अपने सीनियर अधिकारी को जानकारी देंगे।
  • यदि कोई गलत कार्य करते हुए पाया जाता है तो इसकी सूचना अपने सुपरवाइजर को देंगे।
  • अपने क्षेत्र की ड्यूटी को वफ़ादारी से करेंगे।
  • ड्यूटी में कोई समस्या आये तो अपने सुपरवाइजर को बताएँगे, सुपरवाइजर इस रिपोर्ट को अपने उच्च अधिकारी को देगा।
  • सभी कर्मचारियों के साथ सौम्य तरीके से बात करेंगे।
  • जिस क्षेत्र में ड्यूटी पर है उस क्षेत्र में चोरी होने से बचायें।
  • अन्य गार्ड और अपना अटेंडेंस रजिस्टर मैंटेन करें।
  • रात्रि में साइट की ठीक से निरीक्षण करना।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की आपको गार्ड की ड्यूटी क्या होती है, जानकारी सही लगी होगी। यदि सही लगे तो अपने दोस्तों को शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top