fire extinguisher

Fire Extinguisher (अग्निशामक) क्या है, प्रकार, उपयोग एवं विधि

यह आर्टिकल आपके लिए बहुत उपयोगी होगा, क्योंकि इस आर्टिकल में आज हम Fire Extinguisher (अग्निशमन ) के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे और उससे जुड़ी सावधानी तथा उसका इस्तेमाल कैसे करते हैं उस पर नज़र डालेंगे।

इसलिए आपके और आपके आस – पास में मोजूद व्यक्ति के लिए इसकी जानकारी होना ज़रूरी है।

अग्निशामक क्या है ?

Agnishamak

अग्निशमन आग पर नियंत्रण पाने के लिए एक अग्निशामक के रूप में साधन होता है इसका इस्तेमाल किसी भी जगह लगी आग को बुझाने का कार्य होता है।

चाहें वह किसी भी तरह की आग हो जेसे बिजली, एलपीजी सिलेंडर तथा ज्वलन शील पदार्थ में लगी आग हो, यह सब प्रकार की आग पर नियत्रण पा सकता है।

आग लगने के मुख्य कारण:

  • बिजली के शार्ट सर्किट से।
  • बिजली के तारों का ढीला कनेक्शन।
  • विस्फोटक पदार्थ को सही स्थान पर ना रखना।
  • तेल से चलने वाली मशीनों में तेल का ना होना जिससे वह दो सतह पर रगड़ कर हिट पैदा करती है और आग लगने की ज़्यादा संभावना होती है।

Fire extinguisher में कोन सी गैस होती है?

Fire Extinguisher में कार्बन डाइऑक्साइड गैस होती है।

जिसमें सल्फ्यूरिक अम्ल, सोडियम कार्बोनेट तथा सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट की मदद से अग्निशमन जैसे सिलेंडर का निर्माण किया जाता हैं।

कांच की पूर्ण तरह से सील बोतल जो तनू साल्फ्यूरिक अम्ल से तथा सोडियम कार्बोनेट के जलीय विलयन से भरे हुए बर्तन में रखा जाता हैं।

जब आग लगती है तब उसमे लगे हुक को किसी भी मजबूत जगह पर फेक कर तोड़ दिया जाता हैं जिससे सलफ्यूरिक अम्ल सोडियम कार्बोनेट के संपर्क में आने पर कार्बन डाइऑक्साइड बाहर निकल कर आग पर नियंत्रण पाने में कामयाब होती है।

अग्निशमन के प्रकार:

Fire Extinguisher के कुछ प्रकार एवं उपयोग है जिसके बारें में आपको जानना जरुरी है।

Water अग्निशमन का उपयोग:

Water अग्निशमन फायर को बुझाने के लिए प्रयोग किया जाता हैं।

वाटर अग्निशमन को कैसे पहचानें ?

वॉटर अग्निशमन को पहचानने के लिए उसमें वाटर लिखा हुआ होता हैं तथा उसका लेबल रंग ब्राइट रेड होता हैं इस कारण आप उसे आसानी से पहचान सकते हो की वह कोन सा अग्निशमन है।

वाटर अग्निशमन का उपयोग :

वॉटर अग्निशमन को ऑर्गेनिक पदार्थ जैसे कागज़, लकड़ी आदि में आग लगने पर इसका इस्तेमाल किया जाता हैं।

वाटर अग्निशमन का उपयोग कहाँ नहीं करना चाहिए ?

वाटर अग्निशमन का उपयोग बिजली के उपकरण में आग लगने पर उसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए यह और भी ज्यादा खतरनाक हो जाता हैं जैसे :-

  • किचन में आग लगने पर उसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • लिक्विड गैस और फ्लैमोब गैस में भी इसका इस्तेमाल नहीं करना है।

फोम अग्निशमन का उपयोग कहाँ किया जाता हैं ?

फ़ोम अग्निशमन को B फायर में उपयोग किया जाता हैं परन्तु आप इसे फायर A में भी कर सकते हो क्योंकी वह वाटर बेस होता हैं।

फोम अग्निशमन की पहचान :

फ़ोम अग्निशमन का लेबल रंग क्रीम रंग का होता हैं तथा इसके अलावा लेबल पर फोम लिखा हुआ होता हैं।

फोम अग्निशमन का उपयोग:

फ़ोम अग्निशमन को पेपर, वुडन, कार्ड बोर्ड तथा फ्लैमोबल लिक्विड जैसे :- पेट्रोल, पेंट आदि में फोम अग्निशमन का इस्तेमाल होता हैं।

फोम अग्निशमन का उपयोग नहीं करना चाहिए:

  • किचन में आग लगने पर।
  • बिजली के उपकरण में आग लगने पर।
  • फ्लैमोब्ल में भी न करें इसका इस्तेमाल।

ड्राई पावडर अग्निशमन का इस्तेमाल:

ड्राई पाउडर अग्निशमन का उपयोग तीन आग को बुझाने के लिए कर सकते है जेसे A, B तथा C ड्राई पावडर अग्निशमन यंत्र तीन प्रकार की आग बुझाने में सहायक होता हैं।

अग्निशमन की पहचान:

फोम अग्निशमन को उसके लेबल रंग नीला और लेबल पावडर लिखा हुआ होता हैं जिससे आप ड्राई पावडर अग्निशमन को आसानी से पहचान सकते है।

ड्राई पावडर अग्निशमन का उपयोग:

ड्राई पाउडर अग्निशमन का उपयोग पेपर, वुडन, कार्ड बोर्ड तथा फ्लैमोबल लिक्विड जैसे पेट्रोल, पेंट मे और फ्लैमोबल की गैस जैसे एलपीजी आदि में आग लगने पर किया जाता हैं।

 अग्निशमन ड्राई पावडर का उपयोग नहीं करना चाहिए:

ड्राई पाउडर अग्निशमन का उपयोग कुकिंग ऑयल तथा 1000 वाट के उपर वाले उपकरण में आग लगने पर ड्राई पावडर अग्निशमन यंत्र का उपयोग न करें यह और भी खतरनाक हो सकता है।

कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन का उपयोग:

CO2 अग्निशमन का इस्तेमाल बिजली के तारों में लगी आग को बुझाने लिए किया जाता हैं।

कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन की पहचान:

Co2 अग्निशमन को उसके काले लेबल द्वारा तथा उस पे लिखे कार्बन डाइऑक्साइड की मदद से पहचान सकते है।

कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन उपयोग करना चाहिए:

Co2 अग्निशमन को फ्लैबल लिक्विड जैसे पेंट, पेट्रोल और बिजली में लगी आग को भी कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन की मदद से बुझा सकते है इससे आप आग पर जल्दी काबू पा सकते है।

कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन उपयोग नहीं करना चाहिए :

  • किचन की आग में लगने पर कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन का इस्तेमाल न करें।
  • Compositional मटेरियल जैसे वुड, पेपर तथा टैक्स स्टाइल में ।
  • फ्लैमबल मेटल

जैसे मेगनेशिया, पोटेशियम मैं भी कार्बन डाइऑक्साइड अग्निशमन का इस्तेमाल नहीं करें।

वेट केमिकल अग्निशमन का इस्तेमाल:

वेट् केमिकल अग्निशमन को F फायर के लिए बनाया गया हैं जिसमे कुकिंग ऑयल तथा फैट होता हैं उसमें आग लगने पर वेट केमिकल अग्निशमन का इस्तेमाल किया जाता हैं।

वेट केमिकल अग्निशमन की पहचान:

वेट् केमिकल अग्निशमन यंत्र पर वेट केमिकल लिखा होता हैं और इसका लेबल पीले रंग का होता  जिससे आपको इसे। पहचानने में कठिनाई नहीं होती है।

वेट केमिकल अग्निशमन का उपयोग कहाँ नहीं करना चाहिए:

  • फ्लैमब्ल लिक्विड तथा फ्लैमब्ल गैस में आग लगने पर उसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • इलेक्ट्रोनिक उपकरण में आग लगने पर वेट केमिकल अग्निशमन का उपयोग नहीं करना चाहिए आदि।

आग बुझाने की विधि:

आग बुझाने के लिए PASS विधि का इस्तेमाल किया जाता हैं यह विधि आग बुझाने के लिए उपयोगी साबित होती है।

P- Pull the Pin पिन को खींच कर निकाल देना

A- Aim आग लगी हुई जगह पर नीचे की सतह पर निशाना साधना

S – Squeeze अग्निशन में उपर लगे पिन को दबा कर रखें।

S – Sweep आग बुझाने के लिए सिलेंडर में भरी गैस को आग की सतह पर साइड में स्प्रे करना अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आग बुझाने की संभावना नहीं होती है।

आग के प्रकार:

आग को चार प्रकार में बाँटा गया A, B , C तथा D है।

  • क्लास ‘A’ फायर यह वह आग होती है जिसके लगने से बाद में आवशेष बचता है जैसे लकड़ी, कोयला आदि इसके भी प्रकार होते हैं जैस जनरल फायर, आर्डिनरी फायर, कार्बोनेसिय फायर आदि प्रकार है।
  • क्लॉस ‘B’ फायर यह वह आग होती है जिसका ज्ववलनशील पदार्थ लिक्विड हो इसे तेलीय आग के नाम से जाना जाता हैं पेट्रोल, डीजल, मिट्टी का तेल आदि।
  • क्लास ‘C’ फायर यह वह आग होती है जो गैसीय आग होती है जैसे LPG , CNG, NPG इसके एग्जांपल है इसके जलने पर किसी भी तरह का अवशेष नही बचता है।
  • क्लॉस ‘D’ फायर यह वह आग होती है इसे मेटल फायर के नाम से जाना जाता हैं यह आग मेटल से बने धातू में आसानी से लग जाती है जैसे मेटल से बने धातू में फास्फोरस, मैग्नेशियम सोडियम की उपस्थिति मे आग लगना क्लास ‘D’ फायर में आती है।

इन्हे भी पढ़ें :

सारांश :

इस आर्टिकल द्वारा आपको fire extinguisher और उसके प्रकार के बारे में विस्तार रूप में वर्णित किया गया है।

साथ ही आपको यह भी जानने को मिला किसी भी तरह की आग को बुझाने के लिए कोई भी अग्निशमन का इस्तेमाल आपके लिए ख़तरा उत्पन्न कर सकता है इससे आपको सावधान रहना चाहिए।

और यह आपको अग्निशमन से जुडी बातों जैसे कब और किस अग्निशमन का इस्तेमाल करें।

आशा करते हैं यह महत्वपूर्ण जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और यह आपको fire extinguisher से जुडी बातों जैसे कब और किस अग्निशमन का इस्तेमाल करें।

यदि आपको हमारी दी गई जानकारी सही लगे तो हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करें।

धन्यवाद।

admin

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम शिव है Help Guide India ब्लॉग पर आपका स्वागत है यहाँ पर आपको Employee Help, Study, Internet, Technical, Computer नॉलेज से सम्बन्धित सभी जानकारी हिंदी भाषा मिलेंगी, Help Guide India वेबसाइट का एक ही मकसद है, आपकी मदत करने में आपकी मदत करता है इसलिए इस Hindi Blog से जुड़े रहने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल व फेसबुक को फॉलो करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll to top
error: Content is protected !!