Compliance

Compliance क्या है ? कंप्लायंस के प्रकार व् सम्पूर्ण जानकारी

आइए आज हम इस पेज पर Compliance की जानकारी समझते है।

मेरा ऐसा मानना है जिस प्रकार हम अन्य सभी विषयों पर ध्यान देते है और उनके बारे में जानने के लिए वेबसाइट, यूट्यूब तथा गूगल जैसे अन्य साधनों का इस्तेमाल करते हैं।

उसी तरह हमें कंप्लायंस की जानकारी और ज्ञान का होना ज़रूरी है क्योंकी जब आप किसी कार्य या एक व्यक्ति का व्यवस्थित रूप में संचालन करना चाहते है तो उस स्थान पर कार्यरत कर्मचारियों को उनके कार्य के प्रति एवं व्यक्ति को उनके आने वाले बेहतर भविष्य के लिए कंप्लायंस यानी ( अनुपालन ) शब्द के महत्व के साथ-साथ उनको ( अनुपालन ) की उस प्रतिष्ठा को समझना होगा।

जिसकी मदद से वे अपने आस-पास और कार्य के स्थान पर उपस्थित लोगों को अपनी और आकर्षित करने और काम के प्रति प्रभावित करने में सफल हो सके।

Compliance क्या है?

कंप्लायंस वह प्रक्रिया होती है जिसका इस्तेमाल हर क्षेत्र में किया जाता है क्योंकि इसमें कानून के तौर तरीकों से काम करने की इजाजत होती है एवं कंप्लायंस उन कानूनों और पालनो को दर्शाता है।

जिन्हें संस्था तथा प्राइवेट लिमिटेड जैसे संगठनों द्वारा बनाए गए होते हैं क्योंकि ये वे संगठन होते हैं जो क्षेत्र तथा कार्य से संबंधित सभी नियमों, नीतियों, पालन एवं विवरण से परिचित होते हैं।

इसलिए वे कंप्लायंस के बारे में अन्य को जागरूक बनाने के लिए अनुपालन का उपयोग करते हैं तथा कंप्लायंस वह दृष्टिकोण है।

जिसकी मदद से यह सुनिश्चित किया जाता है कि उपयोग किए जाने वाले शासन नियमों का निरंतर पालन करते समय आवश्यक काम को दोबारा दोहराए बिना किया जा सकता है यही एक कंप्लायंस यानी ( अनुपालन ) शब्द हमें समझाने का प्रयत्न करता है।

तथा मेरा ऐसा मानना है Compliance वह है जिसकी सहायता से हमारे देश और देश दुनिया के रिश्ते मजबूत हैं क्योंकि सभी देश एक दूसरे देश के नियमों, नीतियों का कंप्लायंस (अनुपालन) करती है इसलिए वह देश एक दूसरे के कार्य को बिना किसी तकलीफ के पूर्ण करने में समर्थ होते हैं।

कंप्लायंस कितने प्रकार के होते हैं?

कंप्लायंस के कुल दो प्रकार होते हैं जिन्हें हम नीचे पढ़ेंगे –

एक्सटर्नल कंप्लायंस :

यह वह कंप्लायंस है जिसके अंतर्गत सभी संगठनों की अच्छी नियत मैं किसी बाहरी ऋणात्मक ऊर्जा से बचने के लिए निम्न नियम, पालन एवं कानूनों का नियमित रूप से पालन करने का आदेश देता है।

एक्सटर्नल कंप्लायंस वह पहला कंप्लायंस है जो संगठन को कार्य के प्रति व्यक्ति को विश्वास दिलाने सहायता करती है। एक्सटर्नल कंप्लायंस को नीचे दिए गए भागों में विभाजित किया है कंपनी लो, टेक्स लो , लेबर लो तथा एनवायरमेंट लो आदि।

इंटरनल कंप्लायंस :

यहां वह अभ्यांतर क्रिया है जिसमें संगठनों द्वारा बनाई गई प्रक्रिया एवं प्रथाओं का पालन करते हैं यह एक ऐसा तंत्र है जिसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर की नीतियों को न्यूनतम करने के लिए इंटरनल कंप्लायंस दिशानिर्देशों और नीतियों जैसी क्रियाओं को सहज किया गया है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इंटरनल कंप्लायंस मैं अलग-अलग समय पर सुधार होता है।

कंप्लायंस (अनुपालन) का विशेषण क्या होता हैं ?

यदि हम अनुपालन के विशेषण की बात करें तो कंप्लायंस (अनुपालन ) का विशेषण के रूप में वह व्यक्ति जिसमें आज्ञा का पालन करने की योग्यता और क्षमता होती हैं उसे हम विशेषण के रूप में संबोधित कर सकते है एवं विशेषण वे सभी शब्द जो इस पैरा में उपयोग किए गए हैं अनुपालन मतलब कंप्लायंस के विशेषण होते है।

कंप्लायंस का प्रशिक्षण :

जैसा की हम जानते है कंप्लायंस की परिभाषा निम्न शब्दों में  उभर कर आई है जैसे- शासन, इच्छानुसार मांग, प्रस्तावना, नियमों के अनुपालन की प्रक्रिया आदि।

यही कारण है Compliance को सीखने के लिए प्रशिक्षण को प्राप्त करना आवश्यक है तथा इसे हम एक अलग कार्यक्रम से भी संबोधित कर सकते है।

प्रशिक्षण वह महत्वपूर्ण क्रिया है जो कार्यस्थल पर कार्यरत कार्यकर्ता को नियमों का उल्लंघन,समस्याओं जैसी बहुत सी विपत्तियां उत्पन्न न करने एवं नियमों और कानूनों का उलंघन न करने का प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है ऐसा ज़्यादातर उन स्थानों पर होता है जहां बड़े-बड़े उद्योग स्थापित होते है तथा सरकारी स्थानों पर यह प्रशिक्षण अनिवार्य किए जाते है।

कंप्लायंस का प्रशिक्षण क्यों आवश्यक होता है ?

उद्योग के संगठनों की समाज और आम लोगों के प्रति कुछ महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होती है जिसमे लोगो के ज़रिय किय गए उल्लंघनों और गोपनीय नीतियों को सबके सामने आने पर उधोगो एवं कंपनियों के बंद होने की अधिक सम्भावना होती है।

जिन शब्दों को हमने पॉइंट में निचे लिखित रूप में उपस्थित किया है यही वजह है Compliance प्रशिक्षण को प्राप्त करने की जिससे प्रशिक्षण से कार्यकर्त्ता निम्न बातो को सीखे तथा उनसे परिचित हों।

जबकि कंप्लायंस का प्रशिक्षण सिर्फ इन खतरों से निपटने के लिए नहीं होता कंप्लायंस का प्रशिक्षण निचे दिय हुए कारणों से भी सम्बंधित होता है जैसे-

  • सबकी सहायता से उद्योग को ऊँचे स्तर पर ले जाना।
  • सरकार द्वारा क़ानूनी कार्रवाई को न होने देना।
  • उद्योग के स्थान और कर्मचारियों को सुरक्षा प्रदान करना।
  • Compliance प्रशिक्षण कर्मचारियों को होने वाली समस्याएं जैसे- शारीरिक और मानसिक समस्याओं से बचाव करना।

Compliance के कार्यक्रम :

कंप्लायंस का प्रशिक्षण सिर्फ आपके व्यवसाय से संबंधित नहीं होता हालांकि कंप्लायंस प्रशिक्षण में आपका उच्च अनुपालन महत्व होता है।

क्यूंकि उन उद्योगों में उपस्थित नियम, गतिविधियां कार्यकर्ता को किस प्रकार कंप्लायंस का उपयोग करना चाहिए इस तरह के कुछ विशिष्ट नीतियों को समझने के लिए हमने उदाहरण सहित समझाने का प्रयत्न किया है-

  • विविधता की शिक्षा यहां पर विविधता की सुरक्षा पर ध्यान दिया जाता है क्यूंकि जिन लोगों को भिन्न जाति, अलग-अलग आयु के लोगो के साथ कार्य करने के लिए शिक्षा प्रदान की जाती है जिससे वे अन्य लोगो के साथ कार्य करने में सहमत हों।

डेटा सुरक्षा और गोपनीयता नीति का प्रशिक्षण:

इस प्रशिक्षण में आपको बताया जाता है की आप किस प्रकार मोबाइल उपकरण में उपस्थित डाटा को किस तरह संभाल कर रख सकते हैं।

और किसी दुर्घटना वर्ष जैसे मोबाइल खो जाने या अन्य किसी भी आपत्ति के कारण किस प्रकार के कदम उठाने चाहिए तथा संगठन में कंप्लायंस का यकीन दिलाने के लिए कार्यक्रम में सामान्य रूप से डाटा के बीच अंतर होना चाहिए जिससे यह बताया जा सके की इन सभी जानकारी का इस्तेमाल कहां और किस लिए किया जाता है।

कंप्लायंस शिक्षा को कैसे संचालित करें?

जैसा कि आपको कंप्लायंस की शिक्षा का पता चल चुका है तो आइए हम इस बात पर भी गोर कर लेते हैं की इस प्रशिक्षण को अपने कर्मचारियों तक किन-किग प्रक्रियाओं द्वारा पहुंचाया जा सकता है।

इसका सबसे बेहतर तरीका यह है कि कंप्लायंस की शिक्षा ऑनलाइन के माध्यम से प्रदान करना क्योंकि यह वह साधन है जिसका इस्तेमाल अधिक मात्रा में किया जाता है।

इसलिए कंप्लायंस की शिक्षा को वितरित करने में सहायक होता है और इसका इस्तेमाल कर आप धन,समय की बचत करने में सक्षम होते हैं।

हालांकि आज भी बड़े-बड़े उद्योग में कंप्लायंस शिक्षा को संचालित करने के लिए लिखित रूप का उपयोग किया जाता है।

स्टेटरी कंप्लायंस क्या होता है

जो नियम और कानूनों को सरकार द्वारा बनाये गए होते है उन नियम और कानूनों  संगठन कंपनियों द्वारा पालन करना यह इस बात को भी दर्शाता है की हर एक देश के मानदंड के आदर सम्मान को करना होता है।

यदि हम इसे ज़्यादा संक्षेप में न जानकर लघु विवरण में जाने तो स्टेटरी नियम और कानून जो सरकार द्वारा बनाये जाते है जिनका पालन करना सभी के लिए अनिवार्य होता है।

और कंप्लायंस वह है जो नियम और कानूनों का नियमित रूप पालन करने का निर्देश देता है तथा एचआर के माध्यम से संगठन अपने कर्मचारियों से निपटने के लिए क़ानूनी कम्प्लायंस के ढांचे को संदर्भित करता है।

स्टेटरी कंप्लायंस का अनुपालन कर्मचारियों और संगठन दोनों को लाभ पहुंचने का कार्य करता है अगर हम मानव संसाधन प्रबंधन की बात करे तो वह वैधानिक अनुपालन प्रस्तावना जो संगठन कर्मचारियों के साथ व्यवहार करने के लिए पालन करते है।

एचआर कंप्लायंस क्या है ?

एचआर कंप्लायंस में निम्न तरह के कंप्लायंस होते है।

जिनमे नियम और कानूनों का पालन कराने के लिए बहुत ही विनम्रता से बिना किसी भेदभाव के बेहतर व्यवहार किया जाता है एवं जिससे आपने दायित्व और व्यवसाय को कानूनी खतरों से बचाएं रखने में सहायक होते है।

और इसके साथ-साथ कंपनी में आने वाले उतार चढ़ाव में भी कर्मचारी नियमो और कानूनों का पालन करने के साथ कर्मचारी के पद पर विराजित रहने में सहमत होते है।

अगर हम कम्प्लायंस की बात करें तो कंपनी में कार्यरत कर्मचारी को समय पर निर्धारित वेतन को उपलब्ध कराना, लम्बे समय से कार्यरत कर्मचारी को बहुत सी सुख सुविधाओं का लाभ देना एवं उनको कार्य के दौरान हो रही समस्यांओ को सुन्ना और उन पर अमल करना।

यह हमें सरकार द्वारा बनाये गए नियम कानूनों को पालन करने के लिए बाध्य बनाता है जिससे कर्मचारियों के ऊपर कंपनी द्वारा किसी भी तरह के दबाब न होने का अवसर प्रदान करता है।

नीचे दिए गए कुछ चरण जो आपके कंप्लायंस की शिक्षा को संचालित करने में सहायक होते हैं-

चरण 1- अपने पाठ्यक्रम को नीतियों द्वारा उभारना जिनमें कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं की आवश्यकता होती है जैसे-

  • बातचीत करना।
  • नकली दृश्य को उभारना।
  • प्रश्न और उत्तर की सूची का निर्मित करना।

चरण 2. अपने पाठ्यक्रम को अपलोड करके जो की LMS के माध्यम से होता है इसमें भी निम्न पॉइंट शामिल है-

  • स्मूथ संरचना
  • कोर्स को ऑनलाइन के माध्यम से करना।
  • आवर्ती नामांकन से।
  •  मिश्रित अध्ययन से।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की मेरे द्वारा इस पेज के माध्यम से उपलब्ध कराई गई कंप्लायंस की जानकारी आपको Compliance के सभी चरणों को समझने में सहायता करेगी।

एवं कंप्लायंस के प्रशिक्षण की अलग-अलग क्षेत्रों में क्या महत्ता होती हैं इसको भी बारीकी से समझने में आपकी मदद करेगी।

धन्यवाद।

admin

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम शिव है Help Guide India ब्लॉग पर आपका स्वागत है यहाँ पर आपको Employee Help, Study, Internet, Technical, Computer नॉलेज से सम्बन्धित सभी जानकारी हिंदी भाषा मिलेंगी, Help Guide India वेबसाइट का एक ही मकसद है, आपकी मदत करने में आपकी मदत करता है इसलिए इस Hindi Blog से जुड़े रहने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल व फेसबुक को फॉलो करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll to top
error: Content is protected !!