corona se kaise bache

कोरोना से कैसे बचे Corona से बचने के लिए क्या करे 

विश्व स्वस्थ्य संगठन (WHO) ने खान पान को लेकर दिशा निर्देश जारी किया है। इन निर्देशों को अपनाकर हम corona या अन्य बीमारी से भी लड़ सकते है और घर के बाहर ही रोक सकते है

कोरोना को रोकने के लिए क्या करें 

कोरोना जैसी बीमारी को रोकने के लिए निचे दिए गये जानकारी को पढ़ें।

रसोई को कैसे स्वच्छ रखे

WHO की और से जारी निर्देशों के मुताबिक,आपको खाना बनाने से पहले और बनाने के बाद अच्छी तरह से हाथो को धो लेना है और सब्जी को किसी साफ टफ में रख कर पांच मिनट तक नल के निचे रखना है। जिससे सब्जी अच्छी तरह से धूल जाये।

corona se kaise bache

 

आप जिस स्थान में खाना बना रहे है, उस जगह पर चूल्हे और जगह को अच्छी तरह से धोये और सेनिटाइएज करे। अतिरिक्त सावधानी बरतते हुए रसोई को कीड़े मकोड़ो और दूसरे जानवरो की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

ये हो सकते है कारण –

सूक्म जीव हमारे कपड़ो, बर्तनो आदि में रहते है। यदि इनका संपर्क हमारे खान-पान की चीजों  में होता है तो इससे कही तरह की विमारिया होने का खतरा रहता है। जिससे हम मेडिसन लेने पर मजबूर हो जाते है।

पके भोजन को कच्चे भोजन से दुरी बना के रखें –

हमें पोल्टी उत्पादकों के साथ कच्चे मांस और सीफूड को खाने-पीने की दूसरी चीजों से दूर रखना चाहिए।

और कच्चे भोजन को काटने आदि के लिए अलग बर्त्तन, चाकू का प्रयोग होना चाहिए। और यह सुनिचित करे की आपके द्वारा तैयार किया हुआ पका हुआ भोजन किसी कच्चे भोजन के सम्पर्क में ना आ पाए।

corona se kaise bache

 

इसलिए है जरुरी –

कच्चे भोजन खासकर मांस इत्यादि में काफी सूछ्म जिव हो सकते है, इनका असर खासकर स्वास्थय पर पड़ सकता है।

अच्छी तरह से खाना पकाए-

खाना को अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए लगभग 70 डिग्री सेलसियस  तक पका हुआ भोजन खाने से

पहले अच्छी तरह से गर्म करे फिर उसको खाना चाहिए।

corona

 

सुरच्छित तापमान के कारन ही मिलेगी सावधानियाँ –

यदि खाना पक चूका है तो उसे कम  से कम दो घंटे से अधिक ना रखे। तैयार खाने और जल्द ख़राब  होने वाले

भोजन को पांच डिग्री सेल्सियस से कम के तापमान पर नहीं रखना चाहिए। और खाने को जियादा स्टोर ना करें। यदि आप  पके हुए भोजन को कमरे के तापमान में रख देते हो तो सूछ्म जीव तेजी से विकसित होते है।

स्वच्छ भोजन और साफ पानी पिए –

आपको यह सुनिचित करना है की आप जो पानी पिए वह साफ हो,भोजन में  पोस्टिक आहार ले और फल और

सब्जी को कच्चा खाने से पहले ठीक से धो लेना चाहिए। तब खाना चाहिए। जिससे खतरों से बचा जा सकता  है।

कोरोना वायरस  क्या है ?

corona se kaise bache

 

कोरोना वायरस एक संक्रमित बीमारी से है जो एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है। इस बीमारी में झुकाम से लेकर

सांस लेने की तकलीफ समस्या हो सकती है, इस वायरस को इस से पहले कभी नहीं देखा गया है

ये समस्या चीन के वुहान शहर से प्रारंभ हुवा था। इस इस वायरस का नाम नोबेल कोविद वायरस है।

ये पहली बार सामने आया है। कोरोना वायरस को Covid -19 नाम दिया है।

कोरोना वायरस के लक्षण ?

इस बीमारी की बात करे तो यह सामान्य सर्दी जुखाम निमोनिया जैसा होता है। इस वायरस के संक्रमण

में आने के बाद बुखार,सर्दी, साँस लेने में तकलीफ, नाक का बहना, हाथ पैरो में दर्द,गले में खरास जैसी समस्या आती है।

यह बीमारी एक इंसान से दूसरे इंसान के संपर्क में आने से फैलता है। इसलिए इस बीमारी को लेकर सावधानी

बरती जा रही है। जिससे ये महामारी ज़्यादा फैल ना सके। यह बीमारी बहुत तेजी से सभी देशों में फैल रहा है।

कोरोना से बचने के लिए क्या करें-

Corona  बाबा से बचने के लिए सुबह शाम निम्न सामग्री डाल कर corona बाबा की चाय पियें-

एक कप का अनुपात

1- लौंग-1
2- काली मिर्च-2
3- तुलसी पत्ती- 2
4- दाल चीनी की लकडी- (एक लौंग के बराबर)
5- अदरक (नीम की निबौरी के बराबर)

इन्हें अच्छी तरह पकायें, फिर एक कप चाय के हिसाब से दूध डाल कर पकायें, आखिरी में चीनी डालिये ।
अब जितने कप चाय बनाना है उसी अनुपात से सामग्री डाल कर कोरोना बाबा की चाय बनायें, सुबह-शाम

एक कप चाय जरूर पियें । पीने से शरीर में इम्युनिटी ठीक से बनी रहती है।

कोरोना से लड़ने के लिए नियमित रूप से पीये रोज काढ़ा – Corona Se kaise bache

कोरोना वायरस के खिलाप लड़ने के लिए गिलोय,अशवगंधा, तुलसी,सोंठ,अदरक, लॉन्ग,काली मिर्च और

दालचीनी का काढ़ा बड़ा फायदेमंद हो रहा है।

काली मिर्च :

यह सर्दी होने पर प्रतिरोधक छमता बढ़ाता है। इस वजह से काढ़ा में इसका प्रयोग किया जाता है। काली मिर्च में

पिपराइएन पाया जाता है।जो एन्टीडिप्रेसिडेंट है। यह टेंसन के साथ डिप्रेशन कम करता है।

अदरक :

ये एन्टीबैट्रिअल और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। ये सर्दी जुखाम और संक्रमण से बचाने के साथ प्रतिरोधक छमता भी बढ़ाता है। इसमें बिटमिल A,D,Iron,Cl,भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसका नियमित प्रयोग में लेने से शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है।

तुलसी :

तुलसी का पौधा एक वरदान है। ये सर्दी -खासी से लेकर कैंसर के इलाज में इसका प्रयोग किया जाता है।

अश्वगंधा :

अश्वगंधा शरीर की प्रतिरोधक छमता बढ़ाने के लिए एक रामबाण माना जाती है। माना जाता है की अश्वगंधा

कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है। और नए सेल्स बनने नहीं देता है।

लॉन्ग :

खुसबूदार मसाले रूप में लॉन्ग को माना जाता है। इसके तेल में पोटेशियम, सोडियम, फास्फोरस,

आयरन, बिटामिन A ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। लॉन्ग का प्रयोग हम दांत दर्द में भी प्रयोग करते है। ये बहुत लाभकारी है।

“घर पर रहिये परिवार के साथ सुरच्छित रहिये “

admin

admin

नमस्ते दोस्तों मेरा नाम शिव है और Help Guide India ब्लॉग पर आपका स्वागत है यहाँ पर आपको Employee Help, Study, Internet से सम्बन्धित सभी जानकारी हिंदी भाषा में दी जाती है। Help Guide India वेबसाइट का एक ही मकसद है आपकी मदत करने में आपकी मदत करता है इसलिए इस Hindi Blog से जुड़े रहने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *