Data Entry Operator कैसे बनें, योग्यता, सैलरी, अनुभव व् शिक्षा

Data Entry Operator

इस पेज पर आज हम Data entry operator कैसे बनें जानकारी शेयर कर रहें है।

जिसके बारें में आपको जानना बहुत ही जरुरी है यदि आप कंप्यूटर ऑपरेटर बनना चाहते है तो ये पोस्ट आपके लिए बहुत ही मदतगार साबित होने वाली है।

इससे पहले हमने अकाउंटेंट कैसे बनें जानकारी शेयर की थी आप इसको जरूर पढ़ें।

डाटा इंट्री क्या है ?

Data Intry उसे कहते हैं जो किसी भी शाखा तथा मंत्रालय द्वारा किये गए एक बड़े पेमाने पर डाटा को इलेक्ट्रॉनिक यंत्र जैसे कंप्यूटर के प्रक्रिया सामग्री जैसे Ms word, Ms Excel तथा Note Pate में बड़ी मात्रा में काम करना होता जिसके लिए कंपनी तथा सरकारी संथा प्रचालक के रूप में कार्यरथ रखती है जिसे डाटा इंट्री ऑपरेटर कहते है। डाटा एंट्री का कार्य भिन्न प्रकार से उपलब्ध है।

डाटा एंट्री के प्रकार :

देखा जायें तो डाटा इंट्री के बहुत सारे काम होते है फिर भी हमने कुछ पॉइंट दिए है।

  • केप्चा डाटा एंट्री।
  • दस्तावेज प्रविष्ट।
  • नौकरी की पोस्ट।
  • डाटा रूपांतरण आदी डाटा एंट्री के प्रकार उपलब्ध आदि।

Data Entry Operator बनने में सहायक कोर्स :

ये वे कोर्स हे जिनको करने के पश्चात आपको कम्प्यूटर में उपलब्ध सॉफ्टवेयर को कैसे इस्तेमाल करना है, सॉफ्टवेयर से कैसे काम कर सकते है और ये कोर्स आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब प्राप्त कराने में सहायक होते है।

  • CCMS  (Certificate course in Ms Office)
  • ADGD (Advanced Diploma In graphic Desig )
  • DCA    (Diploma In Basic Computer)
  • CBC     (Certificate In Basic Computer)
  • DIT     (Diploma In Information Technology)

कुशल डाटा एंट्री ऑपरेटर :

एक कुशल डाटा एंट्री ऑपरेटर को कम्प्यूटर से संबंधित सभी जानकारी का ज्ञात होना जरुरी है।

क्योंकी हर कम्पनी में वर्जन आपके अनुसार उपलब्ध नही कराए जा सकते है उसमे वर्जन किसी भी वर्ष का हो सकता है जैसे आपने सिर्फ 2019 के वर्जन में कार्य किया हुआ है परन्तु आपको 2021 के वर्जन में काम करने को कहा गया है जिसमे आपने कभी काम नहीं किया और उसमें कुछ सॉफ्टवेयर आपके लिए नए होते हैं।

जिससे आपको वर्जन में काम करने में कठिनाई होती है। यह कारण है की आपको कम्प्यूटर से सम्बन्धित सभी जानकारी ज्ञात होना ज़रूरी होता है। तब आप कुशल डाटा एंट्री ऑपरेटर की श्रेणी में आते हैं।

डाटा एंट्री में टाइपिंग स्पीड :

डाटा एंट्री ऑपरेटर को अपनी टाइपिंग स्पीड पर भी ध्यान देना जरूरी होता है।

क्योंकी डाटा एंट्री ऑपरेटर जब जॉब के लिए इंटरव्यू देने जाते है तो वे न केवल आपको कंप्यूटर में परिपूर्ण देखकर बल्कि आपकी कम्प्यूटर में डाटा टाइप करने की तीव्रता को देख प्रभावित होकर डाटा एंट्री जॉब प्रदान करते हैं।

डाटा एंट्री में टाइपिंग स्पीड भाषा के अनुसार मांगी जाती है।

जैसे हिंदी डाटा एंट्री ऑपरेटर की कम से कम एक मिनट में 30 से 35 शब्द तथा अंग्रेजी डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए एक मिनट में लगभग 40 से 50 शब्द टाइपिंग स्पीड होनी चाहिए।

जिससे आप कम समय में ज्यादा से ज्यादा काम कर सके जिससे आपके काम को बहुत सहराना मिलें।

डाटा एंट्री में भाषा के प्रकार :

Data Intry दो प्रकार की भाषाओं में होती है पहली हिंदी और दूसरी अंग्रेजी और इन भाषाओं का भी अपने – अपने क्षेत्र के अनुसार उपयोग होता है जैसे सरकारी स्थलों कोर्ट अन्य विभाग में ज्यादातर हिन्दी में कार्य किया जाता है और प्राइवेट सेक्टर में अंग्रेजी भाषा का उपयोग होता है जैसे लिमिटेड जैसी बड़ी – बड़ी कम्पनी में अंग्रेजी भाषा में डाटा एंट्री का इस्तेमाल होता है।

डाटा एंट्री में आपका अनुभव :

डाटा एंट्री में जॉब लेने के लिए अनुभव की आवश्यकता होती है।

परंतु अगर आप डाटा एंट्री में अनुभवी व्यक्ति नही है उसके बावजूद भी आप डाटा एंट्री ऑपरेटर का कार्य आसानी से कर सकते हैं पर डाटा एंट्री में अनुभव नहीं आपके कार्य करने की तीव्रता तथा क्षमता को ज्यादा परखा जाता है।

जो आपके कार्य करने की क्षमता तथा तीव्रता  आपको एक अच्छा और अनुभवी डाटा एंट्री ऑपरेटर बनाती है।

डाटा एंट्री में योग्यता :

डाटा एंट्री ऑपरेटर को कंप्यूटर में शॉर्ट कट key का ज्ञान होना ओर उन्हें ध्यान में रखना ज़रूरी है।

क्योंकि शॉर्ट कट key डाटा एंट्री करने के दौरान तीव्रता से काम करने में सहायक होती हैं जो आपको काम करने के प्रति प्रभावी बनाती हैं और डाटा एंट्री करने के दौरान आपका सभी सॉफ्टवेयर जैसे Ms word, Ms Excel आदि में योग्य होना ज़रूरी है।

डाटा एंट्री जॉब के लिए प्राप्त शिक्षा :

डाटा एंट्री जेसी जॉब में काम करने के लिए आपका शिक्षित होना आवश्यक है।

ज्यादातर कम्पनी में डाटा एंट्री जॉब के लिए किसी भी विषय में आपका ग्रैजुएट होना मांगा जाता है पंरतु अगर आपने 12th या 10th भी कर रखी हे फिर भी आप डाटा एंट्री जॉब के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते है।

एक कुशल डाटा एंट्री ऑपरेटर की सैलरी :

अगर हम डाटा एंट्री ऑपरेटर की हर महीने मिलने वाली सैलरी की बात करें तो वह उसके काम करने के अनुभव और पहले वह कहाँ काम कर चुका है या फिर फ्रेशर डाटा एंट्री ऑपरेटर है उस पर निर्भर करता है।

अगर वह फ्रेशर डाटा एंट्री ऑपरेटर है तो उसको प्राप्त सैलरी 10,000  से 20,000 तक मिलती है और अनुभवी है तो 20,000 से 30,000 तक सैलरी मिल सकती है।

निष्कर्ष :

डाटा एंट्री का काम बहुत ही आसान होता है अगर आपको कंप्यूटर की जानकारी है तो,

एक अच्छे कंप्यूटर ऑपरेटर का कार्य ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनो से किया जा सकता है डाटा एंट्री ऑपरेटर कार्य बड़े- छोटे, महिलायें, व् नवयवुक दोनों कर सकते है क्योंकि इसको part time भी किया जा सकता है और अपने कार्य क्षमता के अनुसार वेतन की प्राप्ति होती है।

इन्हें भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की आपको Data Entry Operator कैसे बनें जानकारी सही लगी होगी।

सही लगे तो अपने दोस्तों को भेजें।

कोई प्रश्न है तो हमें कमेंट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!