esic kya h

ESIC क्या है ? इससे परिवार को क्या लाभ होगा, इसकी पूरी जानकारी। ESIC KYA HAI 

यदि में साधारण शब्दो में ESIC Kya hai के बारे में कहु तो वो सबसे बढ़िया रहेगा।

प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले ऐसे कर्मचारी जिनकी सैलरी 21000 हजार से नीचे है।

उन्हें स्वस्थ बीमा प्रदान करती है। कोई भी कम्पनी जिसमे 10 से 20 कर्मचारी कार्यरत है,

वह ESIC के अन्तर्गत आता है। तथा ESIC में सभी कर्मचारियों को, कर्मचारी राज्य बीमा

निगम के तहत निःशुल्क चिकित्सा प्रदान करता है। ESIC को Emplyoees State of Corporation, कर्मचारी राज्य बीमा भी कहा जाता है।

कर्मचारी और नियोक्ता का कितना प्रतिशत योगदान होता है 

ESIC में कर्मचारी एवं नियोक्ता का बहुत बड़ा योगदान होता है। करेंट टाइम पर कर्मचारी की

सैलरी से ०.75 % ESIC काटा जाता है और नियोक्ता से 3.75 % योगदान होता है। जिन कर्मचारियों की सैलरी 21 हजार से ऊपर है उनको अपना योगदान नहीं देना होता है।

 

ESIC में इलाज कहाँ से और कैसे से करवाये ?

दोस्तों आज अधिकतर प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले कर्मंचारियो के लिए आद्योगिक

एवं इंडस्ट्रियल एरिया में डिस्पेंसरी एवं हॉस्पिटल मौजूद है। इसके लिए आपको कम्पनी द्वारा

प्राप्त e – Pahchan Card साथ में ले जाना होगा। जहा कर्मचारी बड़ी आसानी से अपना तथा अपने परिवार का एक छोटी वीमारी से लेकर एक बड़ी बीमारी तक इलाज निशुल्क करवा सकता है।

परिवार में माता-पिता, बहन-भाई, पत्नी और बच्चो का इलाज हो जाता है,

इसके लिए आपको e-Pahchan Card (ESIC) में इन सब का नाम अपडेट करवाना होगा

तभी जाकर आप निःशुल्क इलाज करवा सकते है। यदि आपको बड़ा इलाज करवाना है

ऑपरेशन, डिलीवरी तो आपको अपना ई-पहचान कार्डकंपनी के दस्तावेज लेकर नजदीकी डिस्पेंसरी या अस्पताल में Form -4 को भरकर मरीज को भर्ती कर सकते है।

ESIC हॉस्पिटल में दी जाने वाली सुबिधा-

खासकर ESIC अस्पताल में बुखार से लेकर ऑपरेशन में जो भी खर्चा होता है इसका पूरा

हिसाब-किताब  ESIC ही देखता है, तथा रहने,सोने और खाने का इंतजाम भी ESIC निःशुक्ल करता है।

ESIC से क्या फायदे है-

ESIC योजना के अंतर्गत कर्मचारियों और परिवार के लिए निशुल्क इलाज की वेवस्था करता है।

यदि कर्मचारी को गंभीर बीमारी है तो कर्मचारी को प्राइवेट अस्पताल में रेफेर भी कर दिया जाता है। प्राइवेट अस्पताल में जो भी खर्चा  होगा वह ESIC देगा।

यदि कर्मचारी विकलांग हो जाता है तो 90% वेतन दिया जाता है। और कर्मचारी किसी गंभीर रोग से पीड़ित है और जॉब करने में असमर्थ है तो ESIC 70 % तक वेतन का भुगतान करती है।

चिकित्सा लाभ – रोजगार में प्रवेश करने के पहली दिन ही कर्मचारी को  ESIC की सुबिधा

मिलना चालू हो जाता है। नजदीकी  ESIC डिस्पेंसरी में जाकर निशुल्क दवाई और अपना इलाज करवा सकते है।

गर्वावस्था लाभ – महिला कर्मचारी को ESIC गर्वावस्था के दौरान 26 सप्ताह तक 100 % दैनिक मजदूरी देता है और मातुत्वा का लाभ भी मिलता है।

ESIC पेंशन –

बीमार रहते हुए यदि (Death) हो जाती है तो उसके आश्रित को पेंसन मिलती है। ESIC बीमा से आश्रित को आजीवन पेंसन दिया जाता है। पेंसन को तीन चरणों में रखा जाता है।

  • पहला बीमार व्यक्ति के पत्नी को पेंसन मिलता है।
  • दूसरा  बीमार व्यक्ति के बच्चों को पेंसन मिलता है।
  • तीसरा बीमार व्यक्ति के माता-पिता को पेंसन मिलता हैं ।

ESIC का प्रयोग कैसे करें ?

ईएसआईसी के अंतर्गत अगर आपको इलाज करवाना है तो आप के पास  e-Pahchan

कार्ड को लेकर नजदीकी ESIC Dispensary में जाये। वहां पर छोटी बीमारी से लेकर बड़ी बीमारी तक का इलाज को देखा जाता है इसके लिए लिए आप के पास e-Pehchan Card होना अनिवार्य है। नीचे इमेज में दिया गया है।

ESIC

ESIC में नाम, एड्रेस, डिस्पेंसरी कैसे बदले ?

इसके लिए आप को अपने HR विभाग या एकाउंट्स डिपार्टमेंट में जाकर ईएसआईसी

में जो भी प्रॉब्लम है उसकोआप सही करवा सकते हो। इसके लिए आपको कोई राशि नहीं देनी पड़ेगी।

ESIC ऑनलाइन कैसे देखे-

ESIC ऑनलाइन देखने के लिए आपको गूगल में जाकर esic टाइप करना होगा।

टाइप करने के बाद एक नया पेज ओपन होगा, नये पेज में आपको Portal Application-ESIC पर क्लिक करना है।

क्लिक करने बाद एक और नया पेज खुल जायेगा। वहॉ पर आपको अपना ESIC Number और Captcha डालकर Login कर देना है।

लॉगिन करने के बाद आपको अपना ESIC दिखने लगेगा, वहां पर आप  राशि भी देख सकते हो,

किस महीना मेरा कितना contribution जमा हुआ है या नहीं।

दोस्तों आपको ESIC Kya Hai  के बारे में जानकारी कैसी लगी। यदि सही लगे तो Like और फॉलो करना ना भूले। यदि ESIC के बारे में कुछ पूछना हो तो आप नीचे कमैंट्स बॉक्स में अपना कमैंट्स दे कर पूछ सकते है।

पीएफ से एडवांस रुपये कैसे निकाले ?

अपना पीएफ का पासवर्ड कैसे बनाये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *