सिक्योरिटी गार्ड

सिक्योरिटी गार्ड के क्या कार्य होते है। 50 work।

 

आम तोर पर सिक्योरिटी गार्ड को सुरक्षाकर्मी भी कहा जाता है। सिक्योरिटी गार्ड जिस एरिया में ड्यूटी में तैनात होते है वहा पर सब जिम्मेदारी एक सुरक्षा गार्ड की होती है। चाहे वह किसी फैक्ट्री, अस्पताल, मॉल, बैंक, एटीएम, स्कूल, कॉलेज में ड्यूटी करना क्यों ना हो।

 

अपनी रक्षा करते हुए सिक्योरिटी गार्ड जिस जगह पर ड्यूटी पर तैनात होता है वहाँ किसी भी तरीके का नुकसान होने से बचाता है। उसमे बहुत सारे कार्य आते है जिसमे छतिग्रस्त सम्पति, अपराधिक गतिविधि, असुरक्षित श्रमिक व्यवहार आदि।

 

दोस्तों यदि आप मेरा पोस्ट पढ़ रहे है तो आज आपको सिक्योरिटी गार्ड के कार्य क्या होते है इस पोस्ट के माध्यम से आपको बताने है आख़िरकार सिक्योरिटी गार्ड के क्या कार्य होते है।

सिक्योरिटी गार्ड के पार्किंग कार्य –

  • जब पार्किंग एरिया में सिक्योरिटी गार्ड ड्यूटी पर तैनात है तो सबसे पहले वाहन गेट पर आते है तो आप उस वाहन के प्रवेश इसटीकर या पार्किंग इसटीकर को देखकर ही जाँच करेंगे। फिर उसके बाद अपने रजिस्टर में रिकॉर्ड अपडेट करेंगे फिर जाके अपने पार्किंग में प्रवेश की इजाजत देंगें।
  • पार्किंग एरिया में अगर पार्किंग जगह है तो उसी के हिसाब से वाहन पार्क करायेंगें।
  • पार्किंग में पर्ची सिस्टम को लागु करके पार्किंग की रिकॉर्ड को मेंटेन करेंगे जिससे वाहनों में कोई अप्रिय घटना ना घटे।
  • कम्पनी के अलावा अन्य किसी के वाहन पार्किंग ना कराये जाये।
  • एरिया में यदि जगह बिभाजित है तो जिस वाहन को जहाँ पर लगाना है उसी जगह पर पार्किंग करें।
  • पार्किंग एरिया में गलत पार्किंग ना होने दें, जिससे आवागमन में कोई परेशानी ना हो।
  • पार्किंग एरिया में किसी को धूम्रपान करना न दें।
  • यदि पार्किंग में कोई वाहन खड़ी है, कोई जिक्र करता है की मेरी वाहन है, तब तक ना दिया जाये जब वो वाहन के कागज आपको नहीं दिखाता।
  • सुरक्षाकर्मी के रूप में आप ड्यूटी पर तैनात है। यदि किसी के कहने पर कार चलाकर उसकी मदत ना करें।

 

  मॉल में सिक्योरिटी गार्ड के कार्य –

  • एक सिक्योरिटी गार्ड की मॉल ड्यूटी एक जिम्मेदार सुरक्षा गार्ड की तरह होती है। जिनका काम प्रवेश द्वार पर तलाशी ठीक से करना
  • मॉल में यदि किसी पर शक होता है या कोई अप्रिय घटना घटती है तो इसकी सूचना तुरंत अपने उच्च अधिकारी को दें।
  • हमेसा अपनी वर्दी को साफ सुधरी रखें जिससे मॉल में आने वाले ग्राहक आपको एक अच्छी नजरो से देखें।
  • मॉल में यदि कोई आगजनिक मामला आता है तो आपको अग्निशमक यंत्र को चलाना एवं उसकी जानकारी होना अति आवश्येक है।

 

फैक्ट्री में सिक्योरिटी गार्ड के कार्य :  

  • बिना ड्यूटी वाले कर्मचारी को अर्थात जिनको निकाला जा चूका है, उनको फैक्ट्री के अंदर ना आने दें।
  • फैक्ट्री में आने वाले कर्मचारी का इन टाइम और आउट टाइम अपने रजिस्टर में नोट करें।
  • यदि फैक्ट्री के बहार किसी ने कंपनी के खिलाप कोई अपशब्द लिखे है तो उनकी सूचना उच्च अधिकारी को दें।
  • किसी भी प्रकार का नारेबाजी या गुटबाजी फैक्ट्री में न दें, यदि होता है तो अपने उच्च अधिकारी को इसके बारे में अवगत कराये।
  • यदि फैक्ट्री में कोई बहार से आगुन्तक आता है तो उसका सम्मान करें।
  • यदि फैक्ट्री में किसी कारणवश कोई दुर्घटना होती है तो उसकी सूचना कंपनी के उच्च अधिकारी को बताये।
  • फैक्ट्री में मैनेजमेंट कर्मचारी से प्रेमपूर्वक वार्तालाप करें।

 

स्कूल/ कॉलेज में सिक्योरिटी गार्ड के कार्य :

  • स्कूल या कॉलेज में विद्यार्थी और कर्मचारीयो के अलावा किसी अन्य को प्रिंसिपल के आदेश के बिना अंदर आने ना दें।
  • यदि किसी बच्चे का अभिभावक मिलने के लिए आता है तो बिना प्रिंसिपल के आदेश के बिना उसे मिलने ना दिया जाये।
  • स्कूल बसों को धीमी गति से चलाने के लिए ड्राइवर से कहा जाये। जिससे कोई अप्रिय घटना ना घटे।
  • यदि स्कूल बस ड्राइवर मदिरापान किया है तो उसकी सूचना प्रिंसिपल को अवगत कराया जाये।
  • स्कूल बस बच्चो को लाने या छोड़ने के जाते समय निगरानी रखे, कोई ड्राइवर और कंडेक्टर के अलावा कोई अन्य तो नहीं है।
  • यदि कोई अभिभावक अपने बच्चे को पढाई के टाइम में ले जाना चाहता है प्रिंसिपल के द्वारा बनाया गया पास चेक कर के ही जाने दें।
  • स्कूल परिषर में साफ सफाई का विशेष ध्यान दें।
  • नियमानुसार निर्धारित अधिकारी की आज्ञानुसार गेट के अन्दर बाहर संस्थान के अधिकारियों, शिक्षकों, विधार्थियों, चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों, माली, आगन्तुकों व स्कूल वाहनों का आवागमन कराना तथा सम्बन्धित रिकार्ड ठीक प्रकार से मेन्टेन करना ।
  • स्कूल वाहनों को ट्रान्सपोर्ट मैनेजमेंट व पार्किंग मेनेजमेंट के अनुसार सुचारू रूप से संचालित कराना ।
  • स्कूल परिसर में आने-जाने वाले वाहनों की इन्ट्री की करना व स्कूल के निजी वाहनों की मीटर रीडिंग को नोट करना।
  • समय-समय पर स्कूल परिसर का राउंड लेते रहना है ।

 

अस्पताल में सिक्योरिटी गार्ड के कार्य

जैसा की आप लोग जानते है अस्पताल में अधिकतर बीमारी तथा घायल लोग आते है। ऐसे में हमें अस्पताल में किन बातों का ध्यान देना चाहिए।

  • एम्बुलेंस के आगे किसी दूसरी गाड़ी को खड़ा ना होने दें।
  • एक सिक्योरिटी गार्ड को अस्पताल के सभी चीजों के बारे में विस्तार से पूर्ण ज्ञान होना चाहिए। जैसे विल चेयर, स्ट्रेचर, एमरजेंसी वार्ड, स्टाफ रूम तथा पूछताछ केंद्र, यदि मरीज पूछे तो उन्हें वह बता सके।
  • हमेसा मधुर भाषा का प्रयोग करें।
  • यदि कोई व्यक्ति नशे में पाया जाता है, तो उसे कंपनी परिसर के अंदर जाने की अनुमति न दिया जाये।
  • अस्पताल में आने वाले व्यक्ति और वाहन को ठीक से जांच करें।
  • कोई बुजुर्ग या असहाये है तो उनकी मदत करें।
  • अस्पताल में यदि को घुस या रिस्वत मांगता है तो अपने उच्च अधिकारी को बताये।
  • CCTV कैमरा तथा वहां के सामान को चोरी होने ना दें।
  • अस्पताल के स्टाफ तथा कर्मचारियों से शालीनता भाषा का प्रयाग करें।
  • मदिरा सेवन व्यक्ति को अस्पताल के अंदर आने ना दें, जिससे मरीजों में कोई बुरा असर ना पड़े।

 

सिक्योरिटी गार्ड के होटल में कार्य :  

होटल में अधिकतर उच्च वर्ग आते है। इसलिए होटल में ड्यूटी करते वक्त निम्न बातो का ध्यान देना चाहिए

  • होटल के मैनेजर द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन पूर्ण रूप से करना है।
  • ड्यूटी पर हमेसा साफ सुधरी ड्रेस पहनकर आना है।
  • यदि कोई होटल में आता है तो उसे सम्म्मान पूर्वक सही रास्ता दिखाए।
  • अनावश्यक व्यक्ति को होटल के अंदर ना आने दें।
  • होटल में ड्यूटी के द्वारान सिक्योरिटी गार्ड को वहाँ के कर्मचारियों के प्रति पूर्ण ज्ञान होना बहुत जरुरी है।
  • सुरक्षा नीति में परिभाषित कोई भी प्रतिबंधित सामग्री या वस्तु होटल के अंदर ना आने देना।यदि कोई कर्मचारी कंपनी परिसर के अंदर ऐसी किसी वस्तु के कब्जे में पाया जाता है, तो उसके खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की जाएगी।

 

बैंक में सिक्योरिटी गार्ड के कार्य  :  

  • बैंक में कोई भी हतियार लेके नहीं आना चाहिए।
  • सिक्योरिटी गार्ड को हमेसा  कैश काउंटर पर विशेष ध्यान देना चाहिए।
  • सिक्योरिटी गार्ड को बैंक में आने जाने वालो पर विशेष ध्यान देना चाहिए।
  • बैंक में यदि कोई घटना घटती है तो तुरंत बैंक के उच्च अधिकारी को बताये .
  • बैंक में सभी के साथ शालीनता का व्यहवार करें।

 

ATM में सिक्योरिटी गार्ड के कार्य  : 

एटीएम यानि ऑटोमेटिक टेलर मशीन जैसा की आप लोग जानते ही है बहुत सारे बैंको ने आम आदमी की सुविधा के लिए गांव कस्बो तथा शहरो में  ये मशीन लगाई गई है। जिनके द्वारा आम आदमी बैंक बिना जाये ही आसानी से ATM से पैसे निकाल सकता है।

    • ATM में आने वाले ग्राहक पर नजर रखना सिक्योरिटी गार्ड का काम होता है। कोई अवैध तरीके से छेड़ा खानी तो नहीं कर रहा है। यदि ऐसा करता है तो उसे मना करें।
    • यदि ATM ख़राब हो जाता है तो इसकी सूचना सम्बंधित बैंक अधिकारी को दें.
    • एटीएम में यदि कोई बुजुर्ग महिला या पुरुष कैश निकालने आये तो उनका ध्यान रखना है।
    • एटीएम में कैश निकालने वालों की अंदर भीड़ ना लगने दें। बारी बारी से अंदर जाने दें।

 

आशा करता हूँ की आपको सिक्योरिटी गार्ड के क्या कार्य होते है, पढ़ा और जाना यदि सही लगे तो शेयर और लाइक करना ना भूलें, हमारे फेसबुक पेज में जाकर फॉलो जरूर कीजियेगा ताकि आने वाली पोस्ट के बारे में आपको पता चल सकें। धन्यवाद

 

सिक्योरिटी गार्ड किसे कहते है। और क्या ड्यूटीयाँ होती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top