Security Supervisor  का क्या काम होता है

Security Supervisor का क्या काम होता है, गेट एवं पेट्रोलिंग ड्यूटी

आज के इस आर्टिकल में हम Security Supervisor का क्या काम होता है की जानकारी पढ़ने वाले हैं।

यदि आप सिक्योरिटी सुपरवाइजर की जानकारी जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़िए। किसी भी सिक्योरिटी कम्पनी में कार्याधिकार एक सुपरवाइजर के हाथ में होता है जो अपने कर्तव्य के अलावा 15 से 20 सुरक्षाकर्मी को साथ में लेकर एक कर्तव्य जिम्मेदारी को निभाता है।

इसके अलावा सिक्योरिटी सुपरवाइजर शारीरिक रूप से फिट, मानसिक रूप से सतर्क और शिक्षित होना चाहिए,कार्य के प्रति वफादार होना चाहिए।

एक सिक्योरिटी सुपरवाइजर की भूमिका जिस स्थान में ड्यूटी दिया जाये। वहाँ पर निर्देशों के अनुसार परिषर में लोगों और सम्पत्तियों की रक्षा और सुरक्षा करना होता है।

Security Supervisor की भूमिका एवं जिम्मेदारियाँ :

  • ड्यूटी चढ़ने से 15 मिनट पहले पोस्ट में पहुंचे।
  • सुपरवाइजर और अपने कर्मचारियों की वर्दी साफ सुधरी होनी चाहिए, जिससे उन्हें एक सम्मान के नजरो से देखा जाये।
  • समय पर रिपोर्ट करें और पारी को सम्भालें ।
  • पारी में उपस्थित सुरक्षाकर्मियों की हाजरी लें।
  • पारी में उपस्थित सुरक्षाकर्मियों को ब्रीफ करें या समझायें  ।
  • सुरक्षाकर्मियों को पोस्ट से सम्बन्धित कार्य विधि एवं कर्तव्य के बारे में विस्तार से बतायें ।
  • सुरक्षा कर्मियों की ड्यूटी जाँच करें या देखें।
  • सम्बन्धित परिसर में यदि कोई अप्रिय घटना घटती है तो उसकी जानकारी अपने उच्च अधिकारी को दें।
  • रात्रि समय में निरीक्षण करें एवं परिसर में गस्त का आयोजन करें।
  • सुरक्षा कर्मियों का परीक्षण का आयोजन करें।
  • सुरक्षा कर्मियों का शिकायत का निवारण करना।
  • शिफ्ट रिपोर्ट तैयार करना।
  • आप के बोल -चाल की भाषा में सबसे श्रेष्ठता होनी चाहिये शब्दों में शालीनता, नरमता, विनम्रता, ड्यूटी पालन कराते समय में नियमों बताने के लिये आदेशित शब्द न होकर प्रार्थनीय शब्द होना चाहिये ।

सिक्योरिटी सुपरवाइजर की गेट से सम्बधित ड्यूटीयां :

  • किसी भी कम्पनी में सुरक्षा की तोर पर देखा जाये तो In Gate तथा Out Gate का प्रवेश द्वार सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है इसलिए एक Security Supervisor को गेट पर चौकन्ना होकर ड्यूटी करना अनिवार्य होता है।
  • गेट में हमेशा बंद तथा कुण्डी लॉक का प्रयोग होना चाहियें।
  • यदि कोई भी विजिटर या माल वाहक गाड़ी अंदर आती है तो उसका रिकॉर्ड इन -आउट रजिस्टर में इंट्री होना चाहियें।
  • सभी कर्मचारी/ ठेकेदार वर्कर जब ड्यूटी पर आते है तो उनके पहचान पत्र की जांच करें।
  • ठेकेदार द्वारा दी गए वर्कर लिस्ट की जांच करने के बाद वर्कर को अंदर लें।
  • शक होने पर वर्कर या संग्धित वस्तु को अंदर ना आने देना।
  • वर्कर या कर्मचारी शराब या कोई नशीली चीजों का सेवन किया है तो उसे अंदर ना लें।
  • कंपनी कर्मचारी ड्यूटी समाप्त करने के बाद जा रहे है तो उनका जाँच करें।
  • कम्पनी के कर्मचारी का कोई रिश्तेदार मिलने आया है तो उसे गेट पर ही रोकर सम्बंधित व्यक्ति को बुलायें।
  • यदि कम्पनी का कोई भी कर्मचारी आधी छुट्टी लेकर जा रहा है उसकी लीव पर्ची में उच्च अधिकारी के हस्ताक्षर को चेक करें बाद में उसे अंदर लें।
  • मुख्य द्वार पर Security Supervisor के द्वारा लेखा कागजी काम समय से अपडेट करें।
  • सभी व्यक्तियों की आते और जाते समय तलाशी करें।
  • आते – जाते समय सभी का परसनल सामान को चेक करें।
  • आगन्तुकों को उसी गेट से आने-जाने दें जिसके लिये उन्हें आने- जाने के लिये आज्ञा है।
  • अग्निशमन के यंत्रों की पूरी जानकारी होना चाहिये कहाँ पर रखे हुवे हैं जिससे जरूरत पडने पर तत्काल प्रयोग में लाया जायें  ।
  • ड्यूटी के दौरान फोन पर फेसबुक, वटसप्प व सोसल मिडिया का प्रयोग न करें।

सिक्योरिटी सुपरवाइजर की पेट्रोलिंग से सम्बन्धित निम्न ड्यूटीयां :

यहाँ पर पेट्रोलिंग का अर्थ है रात्रि निरीक्षण करना।

यदि पेट्रोलिंग ड्यूटी पर सिक्योरिटी सुपरवाइजर तैनात है तो निम्नलिखित बातों का ध्यान देना चाहिए जैसे –

  • रात्रि यदि में पेट्रोलिंग गस्त पर है तो आँख, कान, नाक को हमेसा खुला रखें जिससे किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को आप तुरंत पकड़ सके।
  • यदि कोई वस्तु मिले जहाँ पर उसको नहीं होना चाहिए इसकी सुचना अपने उच्च अधिकारी को दें।
  • यदि आप ड्यूटी पर तैनात है तो चारदीवारी का विशेष ध्यान दें क्योकि चारदीवारी में यदि कोई हॉल है तो छोटी चोरी होने से बचाया जा सकता है।
  • आग बुझाने वाली मशीनों के ऊपर अन्य सामान ना रखे, यदि है तो उसे हटा लें।
  • यदि कोई कर्मचारी गलत कार्य कर रहा है तो उसकी जानकारी अपने उच्च अधिकारी को दें।
  • यदि आप पेट्रोलिंग पर गए है तो वहाँ पर देखें किसी प्रकार की वस्तु की बदबू तो नहीं आ रही है। यदि आ रही है तो खोजबीन करके पता लगाये हो सकता है आपकी सूझबूझ से कोई बड़ी घटना होने से बचा जा सकें।
  • शौचालय आदि चेक करें, कोई गलत कार्य तो नहीं हो रहा है।
  • रात्रि पेट्रोलिंग में यदि कोई बात सुनते है जो कंपनी के लिए हानिकारक हो सकती है। उसकी सूचना अपने अधिकारी को बताये।
  • आपतकालीन निकास मार्ग में किसी भी प्रकार की वस्तु एवं सामग्री को न होने दें।

उपरोक्त सिक्योरिटी सुपरवाइजर की ड्यूटी सम्बंधित नियम आपको पूर्ण रूप से पालन करना अनिवार्य है।

विश्वाश है की आप सभी अच्छे नागरिक की तरह ईमानदार सेवाकर्मी होने के नाते शिकायत का मौका नहीं देंगे।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की आपको Security Supervisor का क्या काम होता है जानकारी सही लगी होगी।

यदि सही लगे तो अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें। सिक्योरिटी सुपरवाइजर से सम्बंधित कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करें।

 

14 thoughts on “Security Supervisor का क्या काम होता है, गेट एवं पेट्रोलिंग ड्यूटी

    1. सिक्योरिटी एजेंसी और कंपनी पर निर्भर करता है वह एक सुपरवाइजर को क्या सैलरी देना चाहते है। फिलहाल एक सुपरवाइजर की सैलरी पंद्रह हजार से बीस हजार तक होती है।

  1. 01)The security staff on duty should keep everything confidential.
    02)Crowd control in case of emergency.

  2. My Name Ratnakar Pandey as a post of security supervisor in Delhi NCR Experience 4 years

    1. पांडेय जी एनसीआर में नजदीकी सिक्योरिटी ऑफिस में पता करें आपको अवश्य जॉब मिलेगी।

    2. Pandeygi Namskar,
      Mai just joined security supervisor, huva hu mumbai me, kya kya kam ho hai vistarse apne anubhav share kijiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow us on Social Media