Soft Copy क्या होता है? उदाहरण सहित सम्पूर्ण जानकारी

Soft Copy

क्या आप Soft Copy के बारे में जानते हैं।

यह किस प्रकार ऑफिस, स्कूल तथा अन्य काम को करने में सहायता प्रदान करती है और सॉफ्ट कॉपी इस्तेमाल करने से क्या-क्या लाभ होते हैं इन सभी विषयों पर विस्तार से चर्चा करेंगे।

Soft Copy क्या होता है ?

जैसा कि हम सब जानते हैं सॉफ्ट कॉपी कंप्यूटर या अन्य उपकरण में इस्तेमाल होने वाले बेसिक कंपोनेंट्स है परंतु यह बेसिक के साथ-साथ बहुत ही महत्वपूर्ण भी‌‌ है।

सॉफ्ट कॉपी वह होती है जिसे आप अपने मोबाइल कंप्यूटर या अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स यंत्र में सेव करते हैं जिसका कोई फिजिकल एक्जिस्टेंस ना हो यानी कि जिसे हम छू नहीं पाते सिर्फ उसे पढ़ सकते है, जिसे हम सॉफ्ट कॉपी कहते है।

ऐसा डॉक्यूमेंट जो वर्चुअल डॉक्यूमेंट, इलेक्ट्रॉनिक डॉक्यूमेंट तथा डिजिटल डाक्यूमेंट्स उसे हम सॉफ्ट कॉपी के तौर पर इस्तेमाल करते हैं।

तथा सॉफ्टकॉपी वह महत्वपूर्ण डिजिटल साधन होता है जिसके माध्यम से आप नेशनल, मल्टीनेशनल इत्यादि के कामों के साथ-साथ घर बैठे दुनिया से जुड़ पाते है इसी प्रकार के कामों के लिए सॉफ्ट कॉपी बहुत ही महत्वपूर्ण होती है।

सॉफ्ट कॉपी के प्रकार:

सॉफ्ट कॉपी के तीन प्रकार होते हैं-

  1. हैंड हेल्ड स्कैनर:

हैंड हेल्ड स्कैनर वह होता है जिसको हम अपने हाथ में रखकर किसी भी डाक्यूमेंट को स्कैन कर सकते हैं उन्हें हैंड हेल्ड स्कैनर कहा जाता है तथा ये आकार में छोटे होते हैं।

  1. फ्लैट बेड स्कैनर :

फ्लैट बेड स्कैनर ये वे स्केनर होते है‌ जिनमें समतल सरफेस होता है‌ जिसका उपयोग किसी भी डाक्यूमेंट्स को रखकर स्कैन किया जा सकता है तथा यह आकार में बड़े और बहुत ही महंगे होते हैं।

  1. ड्रम स्कैनर:

ड्रम स्कैनर वे स्केनर होते हैं जिनके माध्यम से सिर्फ मीडियम भाग के डाक्यूमेंट्स को स्कैन किया जा सकता है तथा इसकी स्कैनिंग स्पीड 1000 आरसीएम से भी ज्यादा होती है ये स्कैनर ड्रम स्कैनर कहलाते है।

सॉफ्ट कॉपी का उपयोग कहाँ किया जाता है ?

  1. स्कूल में विभिन्न कार्य में सॉफ्ट कॉपी का प्रयोग किया जाता है जैसे बच्चों का फीस रिकॉर्ड, एग्जाम रिजल्ट, अटेंडेंस‌ इत्यादि कामों में सॉफ्ट कॉपी का इस्तेमाल किया जाता है।
  2. ऑफिस में निम्न प्रकार के डाटा को सेव सॉफ्ट कॉपी के तौर पर रखा जाता है जैसे गुड्स का हिसाब रखना, एंप्लॉय अटेंडेंस, सैलेरी शीट, ऑफिस अकाउंट मैनेजमेंट इत्यादि काम सॉफ्ट कॉपी के माध्यम से किए जाते हैं।
  3. बच्चों को सॉफ्ट कॉपी द्वारा नोट्स तथा पढ़ाई से चूड़ी सभी जानकारी सॉफ्ट कॉपी के द्वारा स्कूल से उपलब्ध कराई जाती हैं।
  4. हॉस्पिटल में ‌ ज्यादातर डॉक्टर सॉफ्ट कॉपी के द्वारा सभी पेशेंट का रिकॉर्ड रखते है सॉफ्ट कॉपी के माध्यम से कई सारे टेस्ट भी आते हैं जैसे एक्स-रे, फुल बॉडी चेकअप इत्यादि।

सॉफ्ट कॉपी इस्तेमाल होने के फायदे:

  1. Soft Copy के माध्यम से हम अपने वातावरण को शुद्ध और सुरक्षित रखते हैं हार्ड कॉपी का उपयोग ना करके।
  2. सॉफ्ट कॉपी डाटा को कई कॉपी कर कई उपभोक्ताओं को एक साथ उपलब्ध करा सकते हैं जिससे समय की बचत होती है।
  3. आप ऑफिस में न जाकर भी सॉफ्ट कॉपी के माध्यम से घर बैठे‌ ऑफिस कार्य पूर्ण कर पाते हैं।
  4. सॉफ्ट कॉपी के कारण गूगल का उपयोग कर आप कई तरह की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  5. सॉफ्ट कॉपी के जरिए आप ऑडियो-वीडियो और देश दुनिया की खबरें प्राप्त करते हैं।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम‌ शब्द:

आशा करता हूँ की Soft Copy आर्टिकल के माध्यम से हमारे द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण तथा मददगार साबित होगी और आपने सॉफ्ट कॉपी का पूर्ण रूप से ज्ञान अर्जित किया होगा।

हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!