Backup

Backup क्या है ? फोन, लैपटॉप में इसकी आवश्यकता क्यों है

आइए इस पेज के माध्यम से हम Backup की एक और महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करते हैं।

जो आपको कंप्यूटर, लैपटॉप या फोन में इस्तेमाल करने के दौरान मददगार साबित होगी एवं आपके फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप में डेटा का बैकअप किस प्रक्रिया द्वारा लाया जा सकता है उस पर भी इस पेज के माध्यम से चर्चा करेंगे।

बैकअप क्या होता है?

बैकअप एक प्रकार की प्रक्रिया होती हैं जिसके माध्यम से हम अपने ओरिजिनल डाटा और फाइल कॉपी करके किसी एक जगह स्टोर कर के पाते हैं उसे बैकअप कहते हैं।

उदाहरण के लिए किसी कारण वश आपका फोन खो जाता है या फिर आपसे गलती से आपके लैपटॉप या कंप्यूटर में उपस्थित डाटा फॉरवर्ड हो जाता है उस समय बैकअप हमारे लिए बहुत ज्यादा उपयोगी माना जाता है।

बैकअप को हिंदी भाषा में क्या कहा जाता हैं?

जैसा कि हम सब जानते है बैकअप एक प्रक्रिया होती हैं जो डाटा को रिस्टोर करने में सहायता करती है इसलिए इसे हिन्दी में अतिरिक्त सहयोग प्राप्त करना भी कहते है।

Backup कितने प्रकार के होते हैं?

जिस प्रकार से हम कई उपकरणों का प्रयोग ऑफिस या अन्य काम को पूर्ण करने के लिए करते हैं उसी उपकरणों के आधार पर Backup होते हैं।

बैकअप कुल 11 प्रकार होते है-

  • डिफरेंट रियल बैकअप।
  • मिरर बैकअप।
  • ऑफसाइड बैकअप।
  • ऑनलाइन बैकअप।
  • रिमोट बैकअप।
  • क्लाउड बैकअप।
  • एफटीपी बैकअप।
  • फुल बैकअप ।
  • फुल कपीसी बैकअप और कंप्यूटर बैकअप।
  • लोकल बैकअप।
  • इंक्रीमेंटल बैकअप।

 बैकअप के प्रकार हैं :

Backup कहाँ उपयोग किया जाता हैं?

  1. किसी केस की इन्वेस्टिगेशन में बैकअपका इस्तेमाल कॉल डिटेल तथा फोन में इस्तेमाल होने वाली प्रक्रिया को जानने के लिए बैकअप का प्रयोग किया जाता है।
  2. तथा बैकअप को डिलीट या फॉरवर्ड डाटा को रिस्टोर करने के लिए ऑफिस में कार्य करने के दौरान प्रयोग किया जाता है।
  3. मल्टीनेशनल कंपनी में बैकअप पुराने डाटा को देखने के लिए भिन्न प्रकार से उपयोग में लाया जाता है।

बैकअप कितने प्रकार से बन सकते है?

बैकअप को विभिन्न प्रकार से बनाया जा सकता है जेसे-

  1. फ़ोन से बैकअप बनाया जा सकता है, उसके लिए आपको फोन की कम्पनी द्वारा अलग से एक फीचर का ऑप्शन दिया जाता हैं।
  2. पेनड्राइव के जरिए आप अपने फाइल और फोटो का बैकअप बना सकते हैं।
  3. तथा सबसे अच्छा और सेव बैकअप का ऑप्शन गूगल ड्राइव का होता है गूगल ड्राइव के जरिए भी आप बैकअप बना सकते हैं।

एंड्राइड फोन में बैकअप कैसे बनायें ?

बैकअप बनाने के लिए मैंने कुछ महत्वपूर्ण चरणों का वर्णन नीचे किया है जो आपको आपके एंड्राइड फ़ोन में बैकअप बनाने में मदद करेंगे –

  • आपने मोबाईल की सेटिंग को खोले।
  • मोबाईल सेटिंग में अकाउंट्स पर क्लिक करें।
  • अकाउंट्स ऑप्शन खोलने के बाद आप गूगल को सेलेक्ट करें।
  • तत्पश्चात आपको ईमेल को चुनना होगा।
  • जिसके माध्यम से आपको एप डाटा, ड्राइव, गूगल, प्ले डाटा तथा कॉन्टैक्ट आदि ऑप्शन सेव हो जाते यदि आप इन्हें सेटिंग द्वारा सेट कर देते हैं और सभी के ऑप्शन को ऑन कर दें ताकि आप कभी भी इस ईमेल को किसी फ़ोन में खोलते हैं तो आपका सारा डाटा आपको प्राप्त हो जाता हैं।
  • लास्ट में आप सिंग नाव पर क्लिक कर दे ताकि बैकअप डाटा की पूर्ण रूप से खत्म हो जाए।

व्हाट्सएप मैसेज फोटो मीडिया फाइल तथा पीडीएफ फ़ाइल का बैकअप कैसे बनायें ?

इन तीनों फाइलों के डाटा के बैकअप बनाने के लिए नीचे दिए गए चरण को फॉलो करें-

  • आपके मोबाइल में उपस्थित गूगल ड्राइव एप को सेलेक्ट करें यहाँ आप 15 जीबी डाटा का स्टोरेज बना सकता है।
  • गूगल ड्राइव एप खुलते ही आप स्क्रीन पर दिए हुए प्लस ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • आप देखेंगे की निम्न प्रकार के ऑप्शन प्राप्त होते हैं जैसे फाइल अपलोड, स्कैन इनमें से किसी ऑप्शन को सेलेक्ट कर आप उसका बैकअप बना सकते है।
  • इनमें से किसी चीज़ का बैकअप बनाने के लिए आपलोड को क्लिक करें और इसे क्लिक करते ही सभी फाइल ऑप्शन प्राप्त होते है।
  • जैसा कि आपको व्हाट्सएप मैसेज का बैकअप लेना है उसके लिए आपको व्हाट्सएप ऑप्शन पर क्लिक करना होगा तत्पश्चात आपके समक्ष मीडिया फाइल को चुने उसके बाद व्हाट्सएप डाक्यूमेंट्स ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • और जिस किसी भी डॉक्यूमेंट का बैकअप लेना चाहते है उस पर क्लिक करे।
  • आप देखेंगे कि वह डॉक्यूमेंट फाइल अपलोड होना शुरू हो जाती है और फाइल की बैकअप प्रक्रिया समाप्त होती हैं।

इसी तरह आसान से स्टेप को फॉलो करते हुए फोटो, मीडिया का भी बैकअप बना सकते हैं।

बैकअप से होने वाले फायदे:

  • डाटा को दोबारा बनाने में टाटा का दोबारा बनाने में मेहनत नहीं करनी पड़ती।
  • बैकअप के दौरान हम एक डाटा को अलग-अलग फाइल में सेव कर सकते हैं।
  • Backup के माध्यम से आप अपने पुराने से पुराने डाटा को पुनः रिस्टोर कर पाते हैं।

बैकअप से होने वाले नुकसान:

  • आपके द्वारा डिलीट किए गए पर्सनल डिटेल बैकअप के दौरान वापस आ जाती है।
  • बैकअप प्रक्रिया के जरिए कोई भी व्यक्ति आपके पर्सनल डिटेल निकाल पाता है।
  • बैकअप करते समय टाइम और कार्य की हानि होती है।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की इस पेज पर उपस्थित Backup की जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

और बैकअप क्या है इसको किस प्रकार तथा किस कारण उपयोग में लाया जा सकता है इन सभी बातों को स्टेप वाईस तरीके से बताया गया है।

जिससे आपको किसी भी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े ।

हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

धन्यवाद |

admin

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम शिव है Help Guide India ब्लॉग पर आपका स्वागत है यहाँ पर आपको Employee Help, Study, Internet, Technical, Computer नॉलेज से सम्बन्धित सभी जानकारी हिंदी भाषा मिलेंगी, Help Guide India वेबसाइट का एक ही मकसद है, आपकी मदत करने में आपकी मदत करता है इसलिए इस Hindi Blog से जुड़े रहने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल व फेसबुक को फॉलो करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll to top
error: Content is protected !!