स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिंदी में पढ़ें और सीखें

स्वतंत्रता दिवस

स्वतंत्रता दिवस क्या है ?

स्वतंत्रता दिवस भारत के राष्ट्रीय त्यौहार में से एक है। इस दिन भारत के लोगों को अंग्रेजो से आजादी मिली थी,

लगभग २०० वर्षो के बाद हमारा देश अंग्रेजों के अत्याचार और गुलामी से 15 अगस्त 1947 को पूरी तरह से आजाद हुआ। ये दिन हर भारतीय के लिए खास होता है और आज के समय में भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र देश है।

15 अगस्त 1947, स्वतंत्रता दिवस का इतिहास :

हमने अपनी आजादी के लिए सघर्ष किया लेकिन अपने नेताओं जवाहर लाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, महात्मा गांधी, चन्द्रशेखर आजाद और भगत सिंह के मार्गर्शन ने, बिना स्वार्थ के भाव से काम किया।

इनमें से कुछ नेताओं ने हिंसा को अपनाया तो कुछ ने अहिंसा को अपनाया, लेकिन इनका आख़री उद्देश्य अंग्रेजों को देश से बाहर निकलना था और 15 अगस्त 1947 को लंबे समय के बाद उनका सपना पूरा हुआ।

हम स्वतंत्रता दिवस क्यो बनाते है?

इस पल को फिर से जीने और स्वतंत्रता की भावना का आनंद लेने के लिए स्वतंत्रता दिवस मनाते है। एक कारण यह है कि जिन लोगों ने भारत को स्वतंत्र करने में अपनी जान गवा दी थी, उन्हें याद कर सके।

इसके आलाव ये त्योहार हमारे अंदर के देशभक्त की भावना जगाए रखता है और किशोर अवस्था के लोगो में उस समय के लोगों के संघर्ष से परिचित होते है।

स्वतंत्रता दिवस पर क्या क्या करते है ?

o

इस दिन सभी स्कूल ,कार्यालय ,सोसाइटी और कॉलेज बंद रहते है लेकिन लोग इस त्योहार को लोग घर पर मजे से मनाते है। एक दिन पहले यानि 14 अगस्त को सभी स्कूल, कार्यालय, सोसायटी और कॉलेज में अलग -अलग सांस्कृतिक कार्यक्रम , फैन्स ड्रेस ,भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।

लाल किले पर हर साल भारत के प्रधानमंत्री राष्ट्रीय ध्वज फहराते है और राष्ट्रगान गाया जाता है।

इस अवसर के सम्मान में 21 तोपों की सलामी दी जाती है।

उसके बाद प्रधानमंत्री जी लाल किले से पुरे देश को सम्बोधित करते है और स्वतंत्रता दिवस के अवसर में वहां बहुत से लोग और बच्चे उपस्थित होते है। स्वतंत्रता दिवस के दिन हमारे सैनिक और एनसीसी कैडेट परेड करते है।

स्वतंत्रता दिवस पर मिठाई बांटना :

भारत के कई गांव, स्कूलों, कॉलेज,  प्राइवेट और सरकारी सेक्टर आदि में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अलग -अलग प्रकार की मिठाईया  बांटी जाती है

स्वतंत्रता दिवस का महत्व :

भारत की आजादी को लेकर हर भारतीय की सोच अलग -अलग है कुछ के लिए यह लम्बे संघर्ष की याद दिलाता है जबकि किशोर के लिए यह देश के गौरव का प्रतीक है।

इस दिन को प्रत्येक नागरिक लोगों की विविधता और एकता में त्यौहार की भावना और गर्व के साथ इस स्वतंतत्रा दिवस को मनाते है।

यह न केवल स्वतंत्रता का त्यौहार है बल्कि देश की विविधता में एकता का भी त्यौहार माना जाता है।

स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि :

इस त्यौहार को बनाने का मुख्य उद्देश्य सेनानियों को याद करने से है जिन्होंने बलिदान दिया ताकि हम एक स्वतंत्र राष्ट्र में स्वतंत्र रूप से रह सके !

ये त्यौहार उन सभी महान आत्माओं को श्रद्धांजलि है। हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के अच्छे कार्यों को बताएं और हमारे देश को ब्रिटिश शासन से मुक्त करने के लिए शुक्रिया किया जाते है

पतंगबाजी:

Patang

हमारे देश के कई हिस्से में 15 अगस्त के दिन पतंग उड़ी जाती है ऐसा माना जाता है की आकाश में स्वतंत्र रूप से उड़ने वाली रंगीन पतंगों को स्वतंत्रता का प्रतीक माना जाता है।

लोग आपने दोस्तों या रिश्तेदारों के साथ पतंगबाजी का आनंद लेते है।

विभिन्न स्थानों पर पतंगबाजी प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती है और लोग बड़ी मात्रा में भाग भी लेते हैं।

निष्कर्ष:

लोग केसर, सफेद या हरे रंग के कपडे पहनते है। तिरंगे का बैच पहनना, हेयर बैंड और रिस्टबैंड भी इन दिनों चलन में होता है। 15 अगस्त स्वतंत्रता का जश्न मनाने का दिन है, साथ ही उन महान लोगों को याद करने का दिन है जो अपने अधिकारों के लिए खड़े हुए और अपनी जान की परवाह किए बिना देश को आजाद किया।

फांसी चढ़ गए और सीने पर गोली खाई,
हम उन शहीदों को प्रणाम करते हैं,
जो मिट गए देश पर, हम उनको सलाम करते हैं !
स्वतंत्रता दिवस मुबारक हो !!!

इन्हे  पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की आपको स्वतंत्रता दिवस पर हिंदी में निबंध कैसे लिखें जानकारी सही लगी होगी।

यदि सही लगे तो अपने दोस्तों को शेयर जरूर करें।

इस पेज से सम्बन्धित आपके के मन में कोई प्रश्न है तो हमें कमेंट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top