Google Map क्या है, क्यों बनाया गया इसका उपयोग कैसे करें

google map

आप सभी को फ़ोन में इस्तेमाल होने वाले विभिन्न प्रकार के ऐप के बारे में तो पता ही होगा लेकिन क्या आप फ़ोन में उपयोग होने वाले Google Map के एप के बारे में जानते हैं।

तथा उसकी महत्वपूर्णता 21 वी शताब्दी के लोगो के लिए किस प्रकार अधिक उपयोगी तथा महत्वपूर्ण है और आपको न केवल इस गूगल मैप एप के बारे में बताएंगे बल्कि केसे और किस तरह से गूगल मैप के एप को उपयोग में लाया जा सकता है इसी तरह की विभिन्न टॉपिक पर भी दृष्टि डालेंगे।

क्योंकि इस गूगल मैप के बारे में ज्ञान रखना आपके लिए बहुत ही ज़रूरी है।

Google Map ऐप्प क्या है ?

गूगल मैप एप फ़ोन में उपस्थित एक सोफ्टवेयर डिवाइस है जिसको गूगल मैप के नाम से जाना जाता है।

यह आपको पृथ्वी पर उपस्थिति किसी भी स्थान को ढूंढने में मददगार होता है।

तथा गूगल मैप एप को बनाने में सबसे बड़ा सहयोग आसमान में लगी सेटल लाइट का रहा क्योंकि जब गूगल मैप को बनाया गया था उस समय सबसे बड़ा सवाल यह था की प्रथ्वी पर उपस्थित सभी स्थानों को गूगल मैप मे कैसे लाए तभी आसमान में उपस्थित सेटल लाइट के ज़रिए सभी स्थानों की तस्वीरों को मर्ज कर उससे ऐसी प्रथ्वी का निमार्ण किया गया जो सभी के फोन में एक सोफ्टवेयर डिवाइस के रूप मे उपस्थित है, जिसे हम गूगल मैप के नाम से जानते हैं।

गूगल मैप को इन्टरनेट कनेक्शन द्वारा स्थान को ढूंढने में किया जाता है।

 गूगल मैप क्यों बनाया गया था ?

Google Map को गूगल द्वारा लॉन्च किया गया था तथा इसे गूगल द्वारा बनाया गया है।

आपको गूगल मैप के निर्माण के बारे में जानकर हैरानी होगी कि किस तरह एक विशाल मैप का निर्माण हुआ, कहा जाता है की गूगल के CEO सुंदर पिचाई के निजी ज़िंदगी में होने वाली एक दुघर्टना ने उन्हें गूगल जैसे विशाल सॉफ्टवेयर को निर्माण करने के लिए प्रेरित किया।

सुंदर पिचाई जी उस दुर्घटना के बाद पूरी रात यह सोच रहे थे की अगर मेरे पास मैप होता जिसके ज़रिए में सही स्थान और सही समय पर पहुँच जाता उनका मानना था कि अगर मुझे इतनी परेशानी हो रही है।

तो अन्य लोग किसी भी जगह को कैसे ढूंढते होंगे तथा सुंदर पिचाई जी ने तभी सुबह होते ही अपनी टीम को बुलाया और गूगल मैप का प्रस्ताव रखा सुंदर पिचाई द्वारा रखा गया मैप का प्रस्ताव को सभी ने मना कर दिया और उनकी टीम के लोगो का मानना था की इस तरह का मैप बनना असंभव है।

लेकिन सुंदर पिचाई जी द्वारा जोर देने पर एक ऐसे एप को बनाने में मंजूरी मिली जो लोगो को स्थान का सही रास्ता बता सकें जिसका नाम गूगल मैप हैं।

 गूगल मैप सर्व प्रथम कहाँ उपयोग किया गया ?

सुंदर पिचाई जी और उनकी टीम ने Google Map पर कई महीनों तक कड़ी मेहनत की और उसमे सफलता मिली।

गूगल मैप पूर्ण रूप से 2005 में बनकर तैयार हुआ तथा सर्व प्रथम अमेरिका में इसका सुंदर पिचाई द्वारा प्रक्षेपण किया गया।

 सर्व प्रथम अमेरिका में गूगल मैप का लॉन्च क्यों किया गया ?

हम सब जानते हैं कि गुगल एक अमेरिका की कंपनी है जिसे इन्टरनेट द्वारा चलाया जाता है और इसे बनाने में लैरी पेज और सर्गी बिन ने अपना बडा योगदान दिया है। गूगल मैप को गुगल के CEO सुंदर पिचाई ने बनाया जिस कारण हम यह कह सकते है कि गूगल मैप को बनाने में अमेरिका की गूगल कंपनी का योगदान रहा।

इसलिए गूगल मैप को 8 फरवरी 2005 को सबसे पहले अमेरिका में लॉन्च किया गया।

यह सबसे बड़ा कारण रहा होगा की गूगल कम्पनी अमरीका की है और बाद में इसे 2006 तक ब्रिटेन में इसका प्रक्षेपण हुआ तथा भारत में गूगल मैप को लाने से पहले इसपर दो वर्षो तक काम किया गया और 2008 में भारत को यह सुविधा प्रदान कराई गई।

गूगल मैप को किस भाषा में उपयाेग किया जाता है ?

हम सब जानते है की गूगल मैप को किसी एक देश के लिए नही बल्कि दुनिया के सभी देश इसका इस्तेमाल कर सकें इसको इस प्रकार से तैयार किया गया है चाहें उस देश में किसी भी प्रकार की भाषा का उपयोग क्यों न किया जाता हो यह गूगल मैप सभी भाषाओं में उपलब्ध हैं।  मतलब इसमें बहूभाषी का इस्तेमाल किया गया है।

 गूगल मैप का उपयोग कैसे करें ?

इस कॉन्टेंट द्वारा गूगल मैप से जुड़ी दो बातों पर ध्यान देंगे ।

किसी भी स्थान की दूरी लोकेशन द्वारा पता कर सकते है की वह आपके स्थान से कितनी दूरी पर स्थित है। गूगल मैप को खोलने पर नीचे दिए गए आपके सफ़ेद आइकन पर क्लिक करते ही आपकी करेंट लोकेशन खुल जाती है।

और आपको जिस स्थान की दूरी ज्ञात करनी है उसके लिए आपको ऊपर दिए गए सर्च बार पर लिखने उस स्थान का नाम लिखने के बाद आपको उस स्थान का पता चलता है।

और नीचे दिए गए नीले रंग के आइकन पर क्लिक करें जिसमें डायरेक्शन लिखा है जिस पर क्लिक करते ही आपको करेंट स्थान से उस स्थान की दूरी बताता है जिस स्थान की आपको खोज होती है।

इस प्रकार आप किसी भी स्थान की दूरी ज्ञात कर पाते है।

और यह जानेंगे की अपने आस पास मौजूद ज़रूरी चीजों का कैसे पता लगा सकते है?

यह जानने के लिए की निजी कार्यो के लिए उपयोगी स्थान आपके आस -पास कहाँ स्थित है उसके लिए आपको गूगल के सर्च बार में जाकर स्थानों जैसे ATM, सलून, स्कूल आदी का नाम लिखने पर आपके आस- पास सभी उपस्थित स्थानों की सूची खुल जाती है।

जिस पर क्लिक करते ही आपको इन स्थानों की दूरी और कितने समय में किस वाहन का उपयोग कर आप वहा पहुंच सकते है उसका पता चलता है।

गूगल मैप द्वारा आपको स्थान पर पहुंचने के लिए आपको दिशा निर्देश भी मिलते है।

गूगल मैप में नीली और लाल रंग की लाइन क्या है?

  • Google Map में दो रंग की लाइन यह निर्देश देती हैं की कहाँ जाम है और कहाँ जानें रास्ता के लिए रास्ता साफ है।
  • लाल रंग की लाइन यह निर्देश देती है की उस स्थान पर जाम लगा हुआ है और नीली रंग की लाइन यह बताती है रास्ता साफ है।

इन्हे भी पढ़ें :

सारांश:

इस पेज मैं उपलब्ध Google Map की जानकारी और कुछ अन्य महत्वपूर्ण बातों का पता चलता है जो आपके लिए गूगल मैप को ओर अधिक समझने सहायक है।

यह भी पता चलता की भारत के दिग्यज वैज्ञानिक और इंजीनियर भारत में कुछ चीजों की कमी के कारण दूसरे देशों में रहते हैं और उनके लिए काम कर उन्हें विकसित देश बनाने में सहायता प्रदान करते है।

आशा करते हैं यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी होगी और इसी तरह हम आपके सहयोग से आपके ज्ञान को उज्जवल करते रहेगें।

धन्यवाद।

हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!