IP Address क्या है? Full Form एवं सम्पूर्ण जानकारी

IP Address

‍प्रिय रीडर में आज आपके लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले IP Address के बारे में जानकारी साझा करने वाला हूँ जिसे हम IP address के नाम से जानते है क्योंकि इसके बारे में जानना आपके लिए आवश्यक है।

आज के दौर में पढ़ाई से लेकर शॉपिंग तक इन सभी क्रियाओं को आप डिजिटली पूर्ण करते है जिस दौरान आपको IP address की आवश्यकता होती हैं।

IP address क्या है ?

IP एड्रेस एक पासवर्ड आईडी होती हैं जिसके माध्यम से आप सोशल मीडिया में इस्तमाल होने वाले एप जिन्हे आप कई तरह से उपयोग में लाते है उन सभी एप का एक सिक्योरिटी पासवर्ड होता हैं।

जो IP एड्रेस के माध्यम से कई कार्य कर पाते हो जैसे – इंटरनेट पर कुछ भी एक्सेस करना, अपलोड, डाउनलोड, मेसेज भेजना, ब्लॉग पढ़ना आदि प्रक्रिया आप IP Address से पूरा करते है।

अगर हम साधारण Ip-address की बात करें तो इसमें 4 सेक्शन होते हैं और 0 से लेकर 255 तक की लिमिट होती है हर एक सेक्शन की ये 32bit बेस्ड एड्रेस इन स्किम है और आपको यह IP Address – 64.25.181.40 में देखने को मिलता है और यह एक यूनिक आईपी एड्रेस होता है।

IP की फुल फॉर्म:

इंटरनेट प्रोटोकॉल (Internet Protocol) IP Address की फुल फॉर्म होती हैं।

IP एड्रेस के प्रकार:

मुख्य IP Address के दो प्रकार होते है ipv4 एवं ipv6 इन दोनों ऐड्रेस की भूमिका इनके संदर्भ में अलग-अलग होती है जिनके बारे में हम विस्तार से वर्णन करेंगे।

1. Ipv4 एड्रेस क्या है?

‌ Ipv4 वह एड्रेस होता है जिसके अंतर्गत सिर्फ आप 4 बिलियन ऐड्रेस ही जनरेट कर सकते है यदि यह इससे ज़्यादा ip -address जनरेट करता हैं तो ipv4 वहीं ऐड्रेस दोबारा से जनरेट करने लगता है अगर आप यूनिक एड्रेस की बात करे तो ये सिर्फ़ 4.23 बिलियन एड्रेस जनरेट कर सकता है।

2. Ipv6 क्या है?

पहली बार जब सिस्टम बनाए गए उस दौरान सोचा गया कि इस ipv4 एड्रेस की हमें जरूरत पड़ेगी।

और इसका इस्तेमाल करेंगे उस टाइम यह नहीं सोचा गया था की आगे जाकर इंटरनेट की मांग बहुत बढ़ेगी जिससे एक इंसान के पास 4 से 5 इलेक्ट्रॉनिक उपकरण कंप्यूटर, लैपटॉप,फोन, जिस टैब इत्यादि मौजूद होंगे।

जिस कारण हमें बहुत सारे आईपी ऐड्रेस की आवश्यकता होगी।

इसलिए 4 बिलियन बंद हो चुकी है वजह से हमारे पास में एड्रेस है ही नहीं इसीलिए ipv6 सिस्टम का निर्माण हुआ।

यह एक 128 bit का सिस्टम है जिसमें 3ffe:1900:4545:3:200:f8ff:fe21:67 एड्रेस का है इस एड्रेस की मदद से हम इतने सारे यूनिक एड्रेस को जनरेट कर सकते हैं।

अगर एक इंसान के पास करोड़ों सिस्टम होते हैं फिर भी यह आईपी ऐड्रेस फेल नहीं होगा परंतु अभी हम ipv6 इसका उपयोग नहीं करते हम सिर्फ ipv4 को उपयोग में लाते हैं।

क्योंकि आपकी आईएसपी राउटर, बॉर्डर इनके अलावा वेबसाइट, उनकी हॉस्टेन सर्विसिस उन सभी का आईपीवी सिक्स के लिए एक साथ कंपेटिव का होना बहुत जरूरी है जो अभी तक असंभव रहा है।

ipv4 सिस्टम एड्रेस के फुल होने पर NAT उपयोग:

अगर हम NAT की बात करें तो जब 4 बिलियन आईपी ऐड्रेस की लिस्ट खत्म होती है उस दौरान हम NAT का उपयोग करते हैं अगर आप अगर आप टीवी फोन अन्य डिवाइस का आईपी ऐड्रेस देखते हैं तो 192. 168.0.20 आदि इसी तरह दिखाया जाता हैं।

यह आपके लोकल ऐड्रेस होते हैं जो राउटर और मॉडेम से आईपी एड्रेस को सभी डिवाइस में भेजा जाता है ‌NAT के तहत हम एक आईपी एड्रेस के पीछे बहुत सारे एड्रेस को छुपा लेते हैं जिसकी सहायता से आज तक हम 4 बिलियन का उपयोग कर पाते हैं।

आईपी एड्रेस कैसे पता लगायें ?

आप अपने आईपी एड्रेस को दो तरह से पता लगा सकते हैं –

1. यदि आप अपना फोन आईपी एड्रेस ज्ञात करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए बिंदु को फॉलो करें-
क- फोन में उपस्थित क्रोम ब्राउजर पर जाएं।
ख- क्रोम ब्राउजर सर्च बारे में मेरा आईपी एड्रेस लिखें।
ग- तत्पश्चात आपका आईपी एड्रेस आपके फोन या कंप्यूटर में उपस्थित हो जाता है।

2. कंप्यूटर में आईपी ऐड्रेस :

क- कंप्यूटर में आईपी एड्रेस जानने के लिए कंप्यूटर में रन कमांड का उपयोग करना पड़ेगा।
ख- जिसमें आपको सीएमडी सर्च करना है।
ग- तत्पश्चात आप पाते हैं कमांड प्रमोट खुल जाता है।
घ- जिसमें आपको आईपी कॉन्फिग लिकर एंटर करना है।
च-लास्ट में आप आपका आईपी ऐड्रेस देख पाते हैं।

आईपी एड्रेस का इस्तेमाल:

1. उपस्थित टाटा को साझा करना।
2. इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को एक दूसरे से कनेक्ट करना।
3. ऑनलाइन सुविधाओं का उपयोग करना आईपी एड्रेस के माध्यम से।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

प्रिय पाठकआशा करता हूँ की मेरे द्वारा बताई गई IP Address की संपूर्ण जानकारी आपको पसंद आई होगी।

तथा आपको आईपी ऐड्रेस का इस्तेमाल किस प्रकार और किस लिए करना चाहिए यह भी आप इस कंटेंट के माध्यम से पता लगा पाते हैं।

एवं आईपी ऐड्रेस का यह आर्टिकल आपके लिए बहुत लाभदायक होने वाला है।

धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!