जॉब कार्ड कैसे बनायें, जॉब कार्ड क्या है इसके फायदें

जॉब कार्ड

आज के इस आर्टिकल में हम जॉब कार्ड की जानकारी पढ़ने वाले हैं यदि आप जॉब कार्ड की जानकारी जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़िए।

क्योंकि आपके लिए जॉब कार्ड के बारे में जानना जरुरी है, इस कार्ड के माध्यम से आप किस प्रकार के लाभ उठा सकते हैं, यदि आप फर्जी जॉब कार्ड का इस्तेमाल करते हैं वह किस प्रकार यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है इन सभी विषयो पर विस्तार रूप से टिप्पणी करेंगे।

जॉब कार्ड क्या है ?

जॉब कार्ड मजदूर रोजगार कार्ड होता है इस कार्ड के अंतर्गत किसी भी ग्रामीण परिवार के कुशल सदस्य को 100 दिन तक रोजगार प्राप्त होता है यह जॉब कार्ड महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण के तहत आपको सभी उपलब्धियां प्राप्त होती हैं इस कार्ड को हम मनरेगा कार्ड के नाम से भी संबोधित करते हैं।

जॉब कार्ड का उद्देश्य यह है कि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की आर्थिक स्थिति पर बदलाव लाना क्योंकि ग्रामीण क्षेत्र के लोग बहुत ही वर्ग के लोग आते है जिस कारण मनेरगा ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एक जरिया था कि वे उनकी आर्थिक और पारिस्थितिक स्थिति में बदलाव ला सकें।

मनरेगा का पूरा नाम:

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम है।

मनरेगा का इतिहास:

सन् 1991 में मनरेगा रोजगार कार्ड का प्रारंभ हुआ और यह सर्वप्रथम पीवी नरसिम्हा सिंह के द्वारा प्रस्तुत किया गया था मनरेगा को 7 अप्रैल 1905 में विधानसभा द्वारा अधिनियमित घोषित किया गया था तथा मनरेगा जैसी पॉलिसी को 625 जिला में शुरू किया गया था जिसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सका जिसका लाभ आज भी कई राज्य के ग्रामीण क्षेत्र में आने वाले बेरोजगार रोजगार प्राप्त कर उठाते हैं।

मनरेगा का उद्देश्य क्या है ?

जैसा कि हम जानते हैं मनरेगा एक महत्वपूर्ण साधन है जिसके माध्यम से कम से कम 100 दिन का रोजगार प्राप्त होता है।

मनरेगा जॉब कार्ड का उद्देश्य यह है कि ग्रामीण क्षेत्र के मजदूर जिन्हें अपने परिवार की रोजी-रोटी चलाने में रोजगार न होने पर कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है इस कारण मनरेगा का उद्देश्य यह है की उन सभी बेरोजगार मजदूरों को काम उपलब्ध कराया जाए।

जिससे उनकी आर्थिक स्थिति कमजोर ना रहे मनरेगा का उद्देश्य यह है कि हर एक मजदूर आत्म निर्भर बने और उन्हें इस कार्य के माध्यम से उनकी आय उपलब्ध करा सके।

मनरेगा के अंतर्गत होने वाले कार्य:

मनरेगा के अंतर्गत कुल छह प्रकार के कार्य निश्चित होते हैं-

1. सिंचाई से संबंधित कार्य जैसे सरकारी स्थल और वन विभाग में।
2. आवास भवन निर्माण करने में।
3. वन में होने वाली समस्याओं को सुधार करने में।
4. ग्रामीण और शहरों में जगह से संबंधित आने वाली चकबंदी का कार्य।
5. पशुपालन भवन निर्माण का कार्य।
6. पीडब्ल्यूडी से संबंधित कार्य जैसे- हाईवे निर्माण, सड़क निर्माण आदि।

जॉब कार्ड कैसे बनायें ?

JOB Card को बनाने के लिए आपको अपने गांव के पंचायत सभा में अपना मनरेगा कार्ड का आवेदन लिखित रूप में करना हैं उसके बाद गांव की सरपंच और पंचायत सभा द्वारा जॉब कार्ड की प्रक्रिया प्रारंभ होती है जो कुल 5 भाग में पूरी होती है इसके बाद आपको जॉब कार्ड उपलब्ध कराया जाता है।

जॉब कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज:

1. बैंक की पासबुक की फोटो कॉपी ‌।
2. दो पासपोर्ट साइज फोटो।
3. वोटर आईडी कार्ड।
4. आधार कार्ड की फोटो कॉपी।
5. स्थाई राशन कार्ड की फोटो कॉपी।
6. स्थाई प्रमाण पत्र।
7. पैन कार्ड आदि।

जॉब कार्ड से मिलने वाले लाभ:

जैसा कि हम जानते हैं मनरेगा एक राष्ट्रीय पॉलिसी है जिस पॉलिसी के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के मजदूरों को रोजगार की प्राप्ति होती है मनरेगा से हमें बहुत सारे लाभ प्राप्त हुए जैसे-

1. कोरोना की महामारी में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के मजदूरों को रोजगार मिला।
2. काम न प्राप्त होने पर आपको आय उपलब्ध हुई।
3. फैमिली में सभी को रोजगार प्राप्त होने की संभावना होती है।
4. काम करने के दौरान आप अपनी मांग तथा शर्तें रख सकते हैं।
5. जॉब कार्ड में आप अपने 5 परिवार सदस्य जोड़ सकते हैं।
6. जॉब कार्ड के माध्यम से आप स्वास्थ्य से संबंधित सुविधाएं प्राप्त कर सकते हैं।

मनरेगा आवेदन ऑनलाइन कैसे करें ?

जॉब कार्ड मनरेगा आवेदन ऑनलाइन फॉर्म को भरने के लिए नीचे दिए गए चरणों को फॉलो करें-

  • ऑनलाइन कार्ड बनाने के लिए सबसे पहले मनेरगा वेबसाइट पर जायें ।
  • तत्पश्चात उसके होम पेज में जाकर आपको राज्य के नाम की सूची मिलती है उसमें अपने राज्य का नाम चयन करें।
  • दिए गए फॉर्म में अपने राज्य को लॉग इन करें।
  • उसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म प्राप्त होता है।
  • बीपीएल डाटा का चयन करें।
  • बीपीएल डेटा का चयन करते ही फॉर्म में मांगी गई मनरेगा से संबंधित सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरे‌।
  • उसके बाद आपको एक आवेदन नंबर प्राप्त होता है जिसे हम पंजीकरण नंबर भी कहते हैं।
  • पंजीकरण नंबर प्राप्त होते ही आप अपनी एक पासपोर्ट साइज फोटो को अपलोड करें।
  • इस तरह आपकी मनरेगा आवेदन प्रक्रिया पूर्ण होती है।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की इस आर्टिकल के माध्यम से जॉब कार्ड मनरेगा की बताई गई संपूर्ण जानकारी आपको सही लगी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *