Naukari किसे कहते हैं ? प्राइवेट और सरकारी नौकरी कैसे करें

Naukari

आइए आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से Naukari से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करें क्योंकि आज के दौर में नौकरी एक महत्वपूर्ण विषय है।

जैसा कि आप देख रहे हैं भारत की जनसंख्या अधिक होने के कारण और कुशल शिक्षा प्राप्त ना होने के कारण ऐसे कई व्यक्ति हैं जिनको जॉब से संबंधित बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जैसे- मार्केट में ज्यादा काम ना होना, एक जॉब के लिए बहुत सारे कार्यकर्ताओं की लाइन इत्यादि समस्याएं जॉब के क्षेत्र में उत्पन्न होती हैं जिन्हें में विस्तार से जानेंगे।

Naukari क्या है?

नौकरी एक प्रकार की गतिविधि होती है।

जो मनुष्य के माध्यम से उन्हें उस कार्य करने के बदले उन्हें उनकी राशि महीने के अंत में प्रदान की जाती है।

नौकरी दो तरह के क्षेत्र में होती हैं जैसे- सरकारी नौकरी तथा प्राइवेट नौकरी इन दोनों क्षेत्रों की नौकरी में अलग-अलग तरह के सैलरी होते है।

सरकारी नौकरी में इंडियन आर्मी, पुलिस, सरकारी डॉक्टर, सरकारी मैकेनिकल इंजीनियर इत्यादि तथा प्राइवेट सेक्टर में टेलर, कारीगर, एचआर, फिटनेस ट्रेनर इस तरह के बहुत सारे प्रोफेशन होते हैं जिसमें हम कुशल होते हैं हमें उसी प्रकार की नौकरी करने का अवसर प्राप्त होता है।

सरकारी नौकरी क्या है?

नौकरी किसी भी देश को संचालित करने में सहायक होती हैं।

यह सभी नौकरियां अभिभावक और सरकार द्वारा बहुत सारी प्रक्रिया को पूर्ण करने के बाद उपलब्ध कराई जाती हैं।

यह परमानेंट नौकरी होती है और सरकारी नौकरी में कार्य करने की समय सीमा तय होती है और सरकारी Naukari के अपने लाभ होते हैं।

भारतीय सरकारी नौकरी में आने वाले पेशा जैसे-INDIAN ARMY, IAS, IPS, SDM, DOCTOR, NURSE, ELECTRONIC INHIBITORS इस प्रकार के बहुत नौकरियां होती है।

सरकारी नौकरी के फायदे:

  • यह Naukari प्राइवेट नौकरी की तुलना में स्थाई होती हैं।
  • आपका वेतन सालाना बढ़ता है।
  • वेतन समय पर आपके बैंक अकाउंट में पहुंच जाता है।
  • फ्री में अभिभावक और उसके परिवार के लिए चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होती है।
  • कार्यकर्ता की मासिक आय में से फंड करता है जो आपके रिटायरमेंट पर उससे अधिक परसेंट में ब्याज सहित प्राप्त होता है।
  • अभिभावक के साथ किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर उन्हें मुआवजा उपलब्ध कराया जाता है।
  • कई सरकारी Naukari में अपना निजी कोर्ट होता है जैसे इंडियन आर्मी में उनका निजी कोर्ट और जज होते हैं।

सरकारी नौकरी के क्षेत्र में हानि के प्रभाव:

  1. समस्या उत्पन्न होने पर आपकी छुट्टी स्थगित की जाती है।
  2. सरकारी नौकरी का सभी को लाभ प्राप्त न हो पाना।
  3. कुशल अभिभावक को ही सरकारी नौकरी उपलब्ध कराई जाती है।
  4. सरकारी नौकरी देते समय दस्तावेज में छोटी से छोटी भी से दिक्कत भी आपको सरकारी नौकरी उपलब्ध नहीं होने देती आदि।

प्राइवेट नौकरी क्या है ?

यह नौकरी किसी भी निजी कार्य को संचालित करने में अपना सहयोग प्रदान करते हैं।

उदाहरण के लिए-किसी भी प्रकार का बिजनेस, कंपनी में विभिन्न तरह के पद पर नौकरी, अपना खुद का क्लीनिक इत्यादि प्राइवेट सेक्टर में नौकरियां उपलब्ध होती है तथा इस नौकरी के अपनी समय सीमा होती हैं यह नौकरी कार्य करने की सीमा और वेतन की तुलना में सरकारी नौकरी से भिन्न होती है।

प्राइवेट नौकरी के लाभ:

  1. आप जब चाहे इसे छोड़ सकते हैं।
  2. आपको कार्य करते वक्त दिन में दो लंच करने के अवसर प्राप्त होते हैं।
  3. आप रोजाना काम करने के बाद अपने परिवार के पास जाते हैं जो कि सरकारी नौकरी में ऐसा संभव नहीं होता।
  4. प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में कार्यरत व्यक्ति को चिकित्सा के क्षेत्र में कंपनी की तरफ से आधा भुगतान किया जाता है।
  5. पीएफ और ईएसआईसी जैसी कई सुविधाएं उपलब्ध होती हैं।

प्राइवेट नौकरी की हानियाँ  :

  • प्राइवेट सेक्टर में आपका वेतन आपके अनुभव के अनुसार उपलब्ध कराया जाता है।
  • पीएफ निकालने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है।
  • यह नौकरी स्थाई नहीं होती आपको जब चाहे तब नौकरी से निकाल दिया जाता है।
  • ज्यादातर आप की मासिक आय समय पर उपलब्ध नहीं कराई जाती और उसका कुछ परसेंट हिस्सा काटकर वेतन प्रदान किया जाता है।
  • प्राइवेट नौकरी में छुट्टी करने की सीमाएं होती हैं।

सरकारी नौकरी किस प्रकार प्राप्त कर सकते हैं?

सरकारी नौकरी पाने के लिए आप अपनी योग्यता के अनुसार सरकारी रिजल्ट वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

यह वेबसाइट भारत की ऑफिशियल सरकारी नौकरी की वेबसाइट है तथा इस वेबसाइट के उपभोक्ताओं ने सरकारी नौकरी पाने का अवसर प्राप्त किया है।

निजी क्षेत्र में सरकारी नौकरी कैसे प्राप्त करें?

निजी क्षेत्र में नौकरी को प्राप्त करने के लिए आपके पास बहुत सारे साधन होते हैं जैसे आप न्यूज़पेपर की हेडलाइंस में नौकरी का आवेदन देख सकते हैं।

और जैसा कि हम जानते हैं 21वी सदी में ज्यादातर सोशल मीडिया का हर क्षेत्र में उपयोग किया जाता है जिस कारण निजी क्षेत्र में नौकरियों को उपलब्ध कराने के लिए बहुत सारे ऐप का इस्तेमाल किया जाता है।

जैसे- अपना जॉब एप, जॉब क्विकर, इस प्रकार विभिन्न प्रकार के जॉब एप है जो आपको आपकी योग्यता अनुसार नौकरियां उपलब्ध कराते हैं।

आप सरकारी तथा प्राइवेट दोनों की वेबसाइट पर जाकर अपनी योग्यता अनुसार मांगी गई सभी उपलब्धियों को बता कर आप एक कुशल नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

नौकरी पाने के लिए योग्यतायें –

सरकारी तथा प्राइवेट क्षेत्र में नौकरी पाने के लिए आप के अंदर निम्न योग्यता होनी चाहिए-

  • आप बातचीत करने में सक्षम हो।
  • आपको कम से कम कंप्यूटर से संबंधित सभी जानकारी का अनुभव आवश्यक है।
  • आप अंग्रेजी तथा हिंदी भाषा में कुशल हो परंतु अंग्रेजी की अधिक मांग होती है।
  • ज्यादातर प्राइवेट नौकरी में डिग्री की आवश्यकता होती है चाहे वह किसी भी क्षेत्र में प्राप्त की गई हो।
  • आप एक अच्छे लीडर बनने योग्य हो।
  • आप अपनी कंपनी को निम्न प्रकार के क्षेत्र में लाभ उपलब्ध कराने में सक्षम हो।

भारत में कितनी सरकारी नौकरियां उपलब्ध है ?

भारत में कुल 70 से 71 करोड़ लोग किसी न किसी कार्य में कार्यरत है परंतु क्या आप जानते हैं कुल 71 करोड़ लोगों की आबादी में जो कार्यरत है उनमें से सिर्फ एक करोड़ लोगों के पास सरकारी नौकरी उपलब्ध है।

इन्हे भी

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की इस आर्टिकल के माध्यम से आप Naukari से संबंधित कई प्रकार की जानकारी से परिचित हुए और इस कंटेंट के माध्यम से आपको यह तो अवश्य पता चल चुका होगा की भारत में सरकारी नौकरी करने वालों की संख्या प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों की संख्या से कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!