Sukanya Yojana क्या है? सुकन्या में खाता कैसे खोलें एवं सम्पूर्ण जानकारी

Sukanya Yojana

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से एक और महत्वपूर्ण योजना की जानकारी प्राप्त करेंगे जिसका नाम Sukanya Yojana है।

इस योजना की संपूर्ण जानकारी आपको पता होना आवश्यक है क्योंकि सुकन्या योजना के माध्यम से आपके बच्चे का भविष्य तय होता है।

यदि आपने इस योजना का लाभ उठाया है तो आपको यह भी जानना आवश्यक है कि आप इस योजना का लाभ और अधिक कब और कैसे उठा सकते हैं और इसके माध्यम से आपके बच्चे किन-किन सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

इन सभी विषयों पर विस्तार रूप से चर्चा करें।

Sukanya Yojana क्या है?

सुकन्या योजना केंद्र सरकार द्वारा भारत में रहने वाली उन सभी बच्चियों के लिए लागू की गई जिनके अभिभावक उनके आने वाले भविष्य के लिए चिंतित रहते हैं।

और उनकी आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण वह अपनी नन्हीं परियों के लिए कुछ भी करने में सक्षम नहीं रहते जैसे- भविष्य में आने वाली पढ़ाई से संबंधित खर्च, नन्ही परी को सुख शांति पूर्वक शादी कर उनका कन्यादान करना यह सब उनके लिए बहुत ही चिंतित विषय है।

क्योंकि वह आने वाले समय में अपनी नंही परी को आत्मनिर्भर बनाना चाहते है परंतु उनकी आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण वे सपना तो देखते हैं।

परंतु उन्हें पूरा नहीं कर पाते जिस कारण केंद्र सरकार द्वारा इस योजना को लागू किया गया जिससे भारत की हर एक बच्ची को पढ़ाई और उनकी शादीशुदा जिंदगी में किसी प्रकार की परेशानी उत्पन्न ना हो।

सुकन्या योजना कितने साल की बच्ची के लिए उपलब्ध है?

जैसा कि हम सब जानते हैं किसी भी योजना को लागू करने से पहले उनके टर्म्स और कंडीशन होते हैं।

आपको बता दें की Sukanya Yojana का लाभ उठाने के लिए आपके बच्ची 10 साल से यदि नीचे है तो ही आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

और आपकी बेटी के अकाउंट को सुकन्या योजना के तहत मंजूरी मिल सकती हैं यदि वह 10 साल और उससे ज्यादा उम्र की है तब आप इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते।

सुकन्या योजना कब लागू की गई थी ?

सर्वप्रथम इसे 3 अप्रैल 2014 को भारत के राज्य पत्र में लागू किया गया था तत्पश्चात प्रधानमंत्री द्वारा सुकन्या योजना 4 अप्रैल 2014 को ग्रामीण क्षेत्र के निवासी की न्यूनतम राशि को बचत के रूप में चुनाव के सुकन्या समृद्धि खाते जमा करना प्रारंभ किया था।

सुकन्या खाते का स्थानांतरण:

जैसा कि हम सब जानते हैं।

Sukanya Yojana उन सभी बच्चियों के लिए है जो 10 वर्ष या उससे कम उम्र वाली हैं और वे अपने माता-पिता के साथ किसी भी राज्य में रहती हैं।

तथा अब वह उस राज्य से आवास कर रहे हैं जहां सुकन्या योजना बैंक अकाउंट स्थित है और वह अब सुकन्या योजना का स्थानांतरण दूसरे शहर में करना चाहते हैं।

जोकि संभव होता है क्योंकि यह योजना केंद्रीय सरकार द्वारा पारित की गई थी जो कि देश के सभी राज्यों की बच्चियों के लिए अनिवार्य है।

सुकन्या खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • सुकन्या योजना खाता के लिए बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र।
  • कन्या के अभिभावक ऐसे माता-पिता आईडी प्रूफ पहचान पत्र, पैन कार्ड, आय प्रमाण पत्र आदि।
  • सुकन्या का आधार कार्ड।
  • घर का स्थाई पता।

इस योजना से मिलने वाले लाभ:

  • सुकन्या योजना के तहत आपको हर वर्ष 7.6%‌ दर से ब्याज प्राप्त होता है।
  • देसी योजना के तहत किसी भी कुशल बैंक में सुकन्या योजना का अकाउंट खुलवा सकते हैं चाहे वह प्राइवेट क्षेत्र की हो या सरकारी विभाग जैसे भारतीय रिजर्व बैंक की हो दोनों को ही सुकन्या योजना अकाउंट की मंजूरी होती है।
  • सुकन्या योजना के अंतर्गत आप अपनी बच्ची के लिए सिर्फ 14 वर्ष तक ही राशि जमा करते हैं उसके बाद आपको किसी भी प्रकार की राशि जमा करने की आवश्यकता नहीं होती।
  • आपको मिलने वाले ब्याज पर सरकार किसी भी तरह का टैक्स नहीं लगा सकती क्योंकि यह योजना केंद्रीय सरकार की होती है।
  • सुकन्या योजना के तहत आप अपनी बेटी के आने वाले कल के लिए चिंतित नहीं रहते।
  • Sukanya Yojana अकाउंट में आप 250 से लेकर 1000 रुपए तक राशि का जमाव कर सकते हैं राशि आपका ब्याज निर्धारित करती है।
  • सुकन्या योजना में आपकी बच्ची को 18 साल पूर्ण होने पर सिर्फ 50% ही पैसा प्राप्त होता है शेष राशि समय पूर्ण होने पर आप निकाल सकते हैं।
  • Sukanya Yojana में एक बच्ची का नोअनी होता है जो सिर्फ उसकी मां होती है।
  • सुकन्या योजना देश की बेटियों को प्रोत्साहन प्रदान करता है।
  • इसमें आप 1 साल के अंदर एक लाख राशि तक जमा करा सकते हैं।

एक परिवार से कितनी बच्चों को लाभ प्राप्त हो सकता है?

Sukanya Yojana का लाभ एक परिवार की एक से दो बच्चियों को ही लाभ प्राप्त होता है यदि दो से अधिक बेटियां एक ही प्रकार से आवेदन करती हैं तो अनिवार्य नहीं होता और यदी आपके घर में दो बच्चे जुड़वा है तो परिवार से तीन बच्चियों को लाभ मिल सकता है।

सुकन्या खाता कैसे खोलें?

सुकन्या योजना फॉर्म भरने के लिए नीचे दी गई स्टेप को फॉलो करें-

स्टेप 1.

सुकन्या योजना ऑनलाइन आवेदन के लिए आपको किसी भी बैंक की वेबसाइट या पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट पर जाएं और सुकन्या योजना फॉर्म को डाउनलोड कर ले।

उसके बाद सुकन्या योजना फॉर्म का प्रिंट आउट निकलवा ले और फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारियों को ध्यान पूर्वक भरें तथा अपनी बच्ची की एक पासपोर्ट साइज फोटो उसमें लगा दे।

स्टेप 2.

नजदीकी बैंक ऑफिस या फिर पोस्ट ऑफिस में फॉर्म को साथ लेकर जाए तथा अभिभावक की महत्वपूर्ण दस्तावेज को अपने साथ लेकर जायें।

जिनकी विषय सूची नीचे दी गई है-

  • सुकन्या का जन्म प्रमाण पत्र।
  • माता या‌ पिता‌ का पहचान पत्र।
  • अभिभावक के पते के तौर पर बिजली बिल या राशन कार्ड लेकर जाए।
  • अभिभावक का गार्जियन सर्टिफिकेट।
  • आपके सभी डाक्यूमेंट्स की चेकिंग प्रतिक्रिया होने के बाद आपका सुकन्या योजना अकाउंट खोल दिया जाएगा।
  • सुकन्या योजना में आप को कम से कम 250 रुपए सालाना जमा करना पड़ेगा।

सुकन्या योजना आने के बाद बदलाव ?

  • बच्ची के शिक्षा तथा शादी के क्षेत्र में किसी प्रकार की फाइनेंसियल दिक्कत नहीं आएगी।
  • माता-पिता को बच्ची के आने वाले कल की किसी भी प्रकार की चिंता नहीं रहती।
  • सुकन्या योजना के तहत वह अपनी आगे की पढ़ाई के लिए सुकन्या योजना अकाउंट पर लोन ले सकते है।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आशा करता हूँ की इस आर्टिकल के माध्यम से बताई गई Sukanya Yojana की संपूर्ण जानकारी आपको लाभ प्रदान करेगी और मैं दिल से ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ। आपकी नन्ही परी की शिक्षा में किसी भी प्रकार की वाधा ना उत्पन्न हो पायें ।

हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top